ट्रेडमार्क रजिस्ट्रेशन कैसे होता है? – Trademark registration की कितनी फ़ीस लगती है

1367

दोस्तों इस पोस्ट में मैं आपको एक छोटी सी कहानी सुनाऊंगा जिससे कि आपके मन में Trademark registration process से जुड़े जितने भी सवाल होंगे उनका जवाब मिल जाएगा| 

जैसे कि ट्रेडमार्क रजिस्ट्रेशन प्रोसेस होता कैसे है?, Trademark registration fees कितनी है?, ट्रैड्मार्क class search कैसे करें? इत्यादि|

अंत में मैं कुछ सवालों के जवाब भी लिखूँगा जिससे की आपको यह concept और भी clear हो जाए|

दोस्तों,

Trademark registration process को समझने से पहले आपको मैं अपनी आप बीती बताऊंगा|

इस कहानी में मैं अपना व्यक्तिगत अनुभव बताऊंगा| इससे आपको trademark registration process बहुत ही आसानी से समझ में आ जाएगा|

इसमें मैं यह भी बताऊंगा कि मुझे trademark registration process पूरा करने के लिए किन किन कठिनाइयों का सामना करना पड़ा

साथ ही मैं उन कठिनाइयों का सॉल्यूशन भी आपको बताऊंगा|

इसमें उपयोग किए गए किसी भी शब्द या वाक्य के द्वारा किसी पर भी आरोप प्रत्यारोप की मेरी कोई मंशा नहीं है|

यदि आपने यह पोस्ट पूरी पढ़ ली तो आपके मन में ट्रेडमार्क रजिस्ट्रेशन का कोई भी सवाल बाकी नहीं रहेगा|

तो चलिए!! दोस्तों, शुरू करते हैं

IP India website interface
ट्रैड्मार्क रेजिस्ट्रैशन वेबसाईट इंटरफेस

Trademark registration क्या होता है?

सबसे पहले आपको यह जानना जरुरी है की trademark registration होता क्या है?

आपके प्रोडक्ट का ट्रैड्मार्क रेजिस्ट्रैशन होने के बाद उस केटेगरी में उस प्रोडक्ट पर रजिस्टर्ड नाम केवल आप ही इस्तेमाल कर सकते हैं|

इससे आपके प्रोडक्ट को एक unique नाम मिल जाता है जिससे आपके प्रोडक्ट की वैल्यू बढ़ जाती है|

अब उस प्रोडक्ट को आपके रेजिस्टर्ड नाम के साथ कोई भी बना नहीं सकता|

इससे आपके ब्रांड की वैल्यू भी बनती है|

स्टोरी पार्ट 1: Trademark Registration Process

यह बात सन 2007 के आसपास की है|

मुझे अपने प्रोडक्ट के लिए 3 नाम रजिस्टर्ड करवाने थे ताकि उनकी कोई डुप्लीकेसी ना कर सके|

शुरुआत में हम लोगों को कुछ भी नहीं पता होता कि ट्रेडमार्क रजिस्ट्रेशन होता क्या है? और trademark registration process कैसे होता है?

मैंने अपने एक जानकार के द्वारा एक चार्टर्ड अकाउंटेंट का नंबर लिया जो कि ट्रेडमार्क रजिस्ट्रेशन करवाता था| 

उस बंदे ने मुझे एक नाम रजिस्टर्ड करवाने की फीस ₹12000 बतायी तथा ₹2000 की अतिरिक्त फीस ट्रेडमार्क सर्च की बताई| 

मुझे 3 नाम रजिस्टर्ड करवाने थे यानी कि मेरी टोटल रकम बैठी ₹42000

हमारा सौदा पक्का हो गया और मैंने एडवांस दे दिया|

लगभग 5 दिन बाद वह सीए साहब मेरे पास आए और बोले

“आपने जो 3 नाम सर्चिंग के लिए दिए थे उनमें से 2 नाम पहले से ही रजिस्टर्ड हैं|

यानी कि आपको 2 नाम दोबारा से और उनकी सर्चिंग की फीस(4000 Rs.) भी दोबारा से देनी होगी|

अबकी बार मैंने उन्हें ऐसे नाम दिए जिनका सर्चिंग में उपलब्ध होने की संभावना 0.1% |

ऐसा ही हुआ वह नाम सर्चिंग में नहीं आए और मेरा ट्रेडमार्क रजिस्ट्रेशन हो गया|

इसमें मैं एक छोटी सी समरी दे रहा हूं ताकि आपको कहानी के अंत में ध्यान रहे कि मुझे अकाउंटेंट द्वारा trademark registration process का क्या कोटेशन दिया गया था?

साथ ही में सन 2007 के trademark registration process  की ओरिजिनल फीस भी लिख रहा हूं|

Summary- 

Trademark registration fees – ₹12000/Name

Trademark name searching – ₹2000/Name

Original fee 2007 में कितनी थी?

Trademark registration fees in 2007 – ₹2700/Name

Trademark name searching fees  – यह फ्री होती है| 

स्टोरी पार्ट 2: Trademark Search

लगभग तीन-चार साल तक मैं उन सीए साहब से अपने ट्रेडमार्क रजिस्ट्रेशन का सर्टिफिकेट मांगता रहा|

लगभग 4 साल बाद वह मेरे पास एक नाम का ट्रेडमार्क रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट लेकर आए जिसके एवज में वह मुझसे ₹2000 फिर ले गए|

अब मुझे यह ज्ञात हुआ कि जो मेरा ट्रेडमार्क रजिस्ट्रेशन हुआ था उसमें मेरा एड्रेस गलत था| 

धीरे-धीरे होते-करते 10 साल का वक्त बीतने वाला था|

वह तीनों नाम जिनका मैंने ट्रेडमार्क रजिस्ट्रेशन करवाया था उन की अवधि समाप्त होने वाली थी

क्योंकि अब मुझे वह रिन्यू कराने थे तो मैंने दोबारा उन साहब से बात की|

अबकी बार मैंने उनसे कहा कि “भैया वह एड्रेस भी ठीक करवा देना”|

उस एड्रेस को ठीक करवाने के लिए उन्होंने मुझे ₹4000 का अतिरिक्त खर्चा बताया तथा ₹14000 एक नाम की सरकारी फीस  बतायी|

कुल मिलाकर उन्होंने मुझे सारा काम करने के तीन नामों के ट्रेडमार्क रजिस्ट्रेशन रिन्यू तथा पता सही करने के ₹54000 बताए|

यह राशि मुझे बहुत ज्यादा लग रही थी इस कारण से मैंने स्वयं ही ट्रेडमार्क रजिस्ट्रेशन करवाने की अपने मन में ठान ली|

साथ ही यह अवश्य देखें: एक्सपोर्ट बिज़नेस में ग्राहक कैसे ढूंढे?

स्टोरी पार्ट 3: Trademark registered process

अब दोस्तों,

यदि आप कुछ काम करने से पहले यदि हम थोड़ी सी रिसर्च कर ले तो हमारा काफी नुकसान होने से बच सकता है|

पर रिसर्च थोड़ी करनी होती है यह नहीं होता कि आप सारे काम छोड़ कर उस रिसर्च में ही लगे रहो 

और यह इस बात पर भी निर्भर करता है कि इससे आपका फायदा कितना होगा?

अब मुझे ज्ञात हुआ कि जो फीस उन्होंने मुझे रिन्यू की ₹14000 बताई थी वह उस वर्तमान समय में ₹9000 थी|

जो कि यह पोस्ट लिखने तक भी यही है|

जबकि नए ट्रेडमार्क रजिस्ट्रेशन की फीस ₹4500 थी|

जो कि जब मैंने पहले रजिस्ट्रेशन करवाया था उस वक्त भाई ₹2700 थी जिसके उन्होंने मुझसे ₹12000 प्रति रजिस्ट्रेशन के लिए थे |

ट्रैडमार्क रेजिस्ट्रैशन के लिए नाम कैसे सर्च करें? | Trademark name searching

जिस नाम सर्चिंग के उन्होंने मुझसे ₹2000 लिए थे|

आप वह नाम सर्च इंटरनेट पर सुबह से लेकर शाम तक जितनी मर्जी बार भी सर्च करो आपका एक भी रुपया नहीं लगेगा|

  • सर्चिंग के लिए आपको ipindia की वेबसाईट पर public search पर जाना है|
  • Wordmark select रहने देना है|
  • अपने प्रोडक्ट का Class डालना है|
  • Goods Description डालना है|
  • यदि वह नाम सर्च में आ रहा है तो सबसे पहले SHOW DETAIL के बटन पर क्लिक करके उसकी डीटेल देखें|
  • उसकी date देखनी है की वह कब तक valid है|
  • यदि उसकी validation date समाप्त हो चुकी है तो आप उसे रेजिस्टर्ड करवा सकते हैं|
  • नोट:- आपको उस नाम के सभी matching trademark की detail देखनी है|
Public search in name registration
Trademark public search

तो दोस्तों अब स्टार्ट करते हैं कि मैंने ट्रेडमार्क रजिस्ट्रेशन प्रोसेस कैसे किया?

पर इसे समझने  मैं मुझे इतना टाइम लग गया कि मेरा पहले वाले रजिस्ट्रेशन की लास्ट डेट निकल गई|

 तो दोस्तों, 

हुआ यह कि मैंने फिर वही नाम नए सिरे से रजिस्टर्ड करवा लिए क्योंकि इस बीच किसी ने भी उन नामों को रजिस्टर्ड करवाने के लिए अप्लाई नहीं किया था| 

ट्रैडमार्क रेजिस्ट्रैशन के लिए अकाउंट कैसे बनायें? | Digital Signature Making

सबसे पहले मुझे पता चला कि मुझे ट्रेडमार्क रजिस्ट्रेशन करने के लिए www.ipindia.nic.in पर एक अकाउंट बनाना पड़ेगा|

उसके लिए new user registration करवाना था|

अकाउंट बनाने के लिए मुझे डिजिटल सिग्नेचर की आवश्यकता थी|

मैंने e-mudra की वेबसाइट पर डिजिटल सिग्नेचर के लिए रिसर्च की जिसमें मुझे पता चला कि मुझे डिजिटल सिग्नेचर में भी क्लास पता करनी पड़ेगी कि मुझे कौन सी क्लास का डिजिटल सिगनेचर बनवाना है?

मुझे क्लास 3 का सिग्नेचर बनवाना था जिस की फीस ₹3000 थी|   जिसकी समाप्त होने की अवधि 2 साल थी|

अब दोस्तों में डिजिटल सिगनेचर मैं अपने लैपटॉप में लगाकर अपना अकाउंट बनाने लगा|  

अब यहां पर एक समस्या उत्पन्न हो गई कि मुझे डिजिटल सिग्नेचर के लिए अपने लैपटॉप में कुछ सेटिंग्स करनी थी जैसे कि जावा अपडेट होना चाहिए,

एक फाइल स्क्रिप्ट भी मुझे चेंज करनी थी जिसे capricon.dll कहते हैं| 

लगभग 1 हफ्ते तक लगे रहने के बाद वह सेटिंग पूरी हुई और मेरा आईपी इंडिया पर  अकाउंट बना|

 तो दोस्तों,

आपकी सुविधा के लिए मैं बता देता हूं कि ज्यादा टेक्निकल नॉलेज ना होने पर आप इसे किस प्रकार करेंगे?

सबसे पहले आप अपने पीसी में Teamviewer तथा Anydesk सॉफ्टवेयर डाउनलोड करके रख ले तथा 

अपना इंटरनेट ऑन रखें|

अब आप नीचे दिए हुए नंबरों पर मैं से किसी एक पर कॉल करें|

Online Services Support (e-filing)

(i) Trade Marks: +91-22-24132299, Email: [email protected] and

(ii) Patents: +91-11-25301243,+91-11-25300201,+91-11-28089556, Email: [email protected]

यहां पर  कॉल करने के बाद Teamviewer या Anydesk द्वारा आपके पीसी के फ्रंट पैनल का कंट्रोल लेकर वह आपकी सारी सेटिंग कर देंगे |

ट्रैडमार्क रेजिस्ट्रैशन में अपने प्रोडक्ट का क्लास कैसे पता करें? | Trademark class search

अब आपको अपने प्रोडक्ट की क्लास पता करनी पड़ेगी कि आपका प्रोडक्ट कौन सी क्लास में आता है?

 यह पता करने के लिए आप इस लिंक पर क्लिक करके देखें कि आपका प्रोडक्ट किस क्लास में आएगा ? TradeMark Class List

ट्रैडमार्क रेजिस्ट्रैशन करते समय क्या डीटेल देनी हैं? | Detail filling in trademark registration

इसमें आपको अपनी डिटेल देनी है| यदि आप प्रोपराइटरशिप फर्म हैं तो आप इंडिविजुअल का कॉलम सेलेक्ट करेंगे|

 इसमें आपको अपना नाम,  पता,वह नाम जो रजिस्टर्ड करवाना है वह,  डालकर सबमिट के बटन पर क्लिक करना है|

 यह सब कार्य करने के दौरान आपको अपना डिजिटल सिग्नेचर अपने लैपटॉप में लगा कर रखना है| 

इसी के द्वारा आपके ऑथेंटिसिटी प्रूव होगी|

ट्रेडमार्क रजिस्ट्रेशन की फ़ीस कितनी है? | Trademark registration fees 

अब आपको आखिरी चरण में ट्रेडमार्क की फीस देनी है| पोस्ट लिखने के समय तक  एक नाम को रजिस्टर्ड करवाने की फीस 4500 रुपए है जोकि 10 साल की समय सीमा के लिए होती है|

 ट्रेडमार्क रजिस्ट्रेशन की फीस जमा करने के उपरांत आप उस नाम को इस प्रकार लिख सकते हैं (NAAM™)|

उपरांत 4 से 6 महीने के अंदर आपको एक सर्टिफिकेट आपकी मेल पर प्राप्त होगा| यह सर्टिफिकेट ट्रेडमार्क रजिस्ट्रेशन का सर्टिफिकेट होता है| 

अब  आपने जो भी नाम रजिस्टर्ड करवाया है उसमें आप ™  के स्थान पर R  का  इस्तेमाल कर सकते हैं|

यानी कि मैंने अज्ञानता के अभाव में जिस कार्य के ₹46000 दिए थे और दोबारा में जिस कार्य के वह ₹54000 मांग रहे थे वह काम  ₹16500 में पूरा हो गया|

साथ ही यह अवश्य देखें: एक्सपोर्ट इंपोर्ट बिजनेस कैसे शुरू करें?

Trademark registration process full guide

Step 1: Trademark registration account creation

trademark registration process
ipindia website for trademark registration home page interface

Step 2: Trademark registration new registration

trademark new user registration
trademark registration new aacount registration requirements

Step 3: Trademark registration account login

trademark portal login
ipindia account login

Step 4: Trademark registration account creation

TRADEMARK REGISTRATION PROCESS IN HINDI
New form filing option select in trademark registration process

Step 5: Type of applicant

trademark registration process
trademark registration type of applicant

Step 6: Registration detail

detail
registration detail in trademark registration

इसके बाद पेमेंट करनी है|

बस अब आपको पेमेंट करनी है और आपका ट्रैड्मार्क रेजिस्ट्रैशन प्रोसेस पूरा हो गया!!

FAQ: Trademark registration

Trademark registration की फीस कितनी है?

वर्तमान समय में 4500 रुपए न्यू रेजिस्ट्रैशन की फीस है|

Trademark registration की renew फ़ीस कितनी है?

वर्तमान समय में 9000 रुपए है|

क्या कोई हमारे Trademark registration नाम को स्पेलिंग बदलकर रेजिस्टर्ड करवा सकता है?

हाँ, क्योंकि स्पेलिंग बदलने पर नाम का अर्थ ही बदल जाएगा|

Trademark registration फ़ीस जमा होने के बाद हमे R symbol का use करना चाहिए?

हमे TM का use करना चाहिये जब तक हमारा रेजिस्ट्रैशन सर्टिफिकेट ना आ जाए|

Trademark registration सर्टिफिकेट आने में कितना टाइम लगता है?

अभी वर्तमान समय में 4-6 महीने लगते हैं|

Trademark registration हम कहाँ से download कर सकते है?

आपकी रेजिस्टर्ड email पर आएगा|

Trademark registration की validity कितने दिनों की होती है?

दस साल – इसके बाद आपको दोबारा renew करवाना पड़ेगा|

यदि कोई हमारा Trademark registration कॉपी कर ले तो क्या होगा?

उसका कॉपी माल जबत हो सकता है, penalty लग सकती है, सज़ा का भी प्रावधान है|

क्या हम सभी तरह के नामों पर Trademark registration करवा सकते हैं?

नहीं, सभी नामों पर ट्रैड मार्क रेजिस्ट्रैशन नहीं हो सकता|

किस तरह के नामों पर Trademark registration नहीं होता?

जैसे की – Sunday, Monday, January February, भगवानों के नाम, इत्यादि- यानि की जिन नामों को कोई एक व्यक्ति अपना स्वामित्व ना बना सके|

साथ ही यह अवश्य देखें:

CHA (कस्टम हाउस एजेंट) का एक्सपोर्ट इंपोर्ट बिजनेस में क्या रोल होता है?

लघु उद्योग क्या होता है तथा इसमें कौन कौन से प्रोडक्ट आते हैं?

इंडियन ट्रेड पोर्टल के फायदे तथा इसका आयात निर्यात में क्या फ़ायदा है?

एमएसएमई के बारे में सारी जानकारी

मर्चेंट एक्सपोर्टर तथा मैन्युफैक्चरर एक्सपोर्टर के फ़ायदे तथा नुकसान

पूरा पढ़ने के लिए धन्यवाद!

यदि आपको यह पोस्ट पसंद आयी हो तो कृपया इसे अधिक से अधिक मात्रा में शेयर अवश्य करें|

मेरी कामना है की आप सभी लोग बिज़नेस में तरक्की करें|