Port registration की पूरी प्रक्रिया आसान भाषा में जानें | AD Code registration

1516

इस लेख के माध्यम से आप Port Registration तथा AD code registration कैसे होता है? तथा export import business में Port registration का process कैसे होता है? यह जान पाओगे|

AD Code apply तथा AD Code रजिस्ट्रेशन में अंतर

इस टॉपिक को थोड़ा सा आसान बनाने के लिए, मैं आपको एक बात क्लियर कर देना चाहता हूंl

पहले आपको अपने बैंक से एडी कोड ऑथराइजेशन लेटर लेना होता हैl

इस AD Code authorization letter को port पर register करवाने को पोर्ट रजिस्ट्रेशन या AD Code registration कहते हैंl

इस पोस्ट में आप यह दोनों प्रक्रिया बहुत ही सरल भाषा में जान पाएंगेl

साथ ही आप यह भी जान पाएंगे कि इन दोनों प्रोसेस में क्या-क्या डॉक्यूमेंट लगते हैं?

Port Registration Process

Export Import Business में जब भी हम किसी भी Port से पहली बार Export या Import करते हैं तो हमें उस Port पर अपना Registration करवाना अनिवार्य है|

चाहे पहली बार किसी भी पोर्ट से माल deliver करना हो- जैसे Air port, Dry Port या Sea Port हो| यह केवल एक बार ही करवाना होता है|

अब सवाल यह उठता है कि Port Registration होता कैसे हैं?

और Port Registration के लिए क्या-क्या Documents चाहिए तथा AD code कैसे प्राप्त करें?

तो दोस्तों, मेरे इस ब्लॉग के माध्यम से, मैं आपको यह सारी जानकारी उपलब्ध करवा रहा हूं|

AD Code Process Chart

Port registration में AD Code क्या होता है?

दोस्तों, पहले ad code full form क्या होती है? इसके बारे में जान लेते हैं|

AD code full form: “Authorized Dealer Code”

अब! जानते हैं की ad code क्या होता है? (what is ad code means?)

एडी कोड का क्या अर्थ होता है?

आइए, समझते हैं!!

AD code means:- “Authorized dealer code”

चलिए! विस्तार से समझते हैं|

एक्सपोर्ट इंपोर्ट बिज़नेस में हमें पोर्ट रजिस्ट्रेशन करवाने के लिए Ad code की आवश्यकता होती है|

 जिस बैंक में हमारा करंट अकाउंट होता है उस बैंक से हमें Ad code लेना होता है| 

यह खाता आपके Import export license में भी उल्लेखित होना चाहिए|

आपका बैंक आपको अपने लेटर हेड पर 14 अंकों का एक कोड देगा यही AD Code होता है|

आपको यह AD Code  अपने उस पोर्ट पर रजिस्टर्ड करवाना होगा जहां से आप पहली बार एक्सपोर्ट इंपोर्ट कर रहे हैं| 

कस्टम क्लीयरेंस के लिए पोर्ट रजिस्ट्रेशन अनिवार्य है और पोर्ट रजिस्ट्रेशन के लिए Ad code अनिवार्य है| 

जिस भी port से आप पहली बार import-export करेंगे उस port पर आपको, यह AD Code केवल एक बार ही registerd करवाना होगा|

Export business port formats download

दोस्तों, आप लोगों की सुविधा के लिए मैंने इन सारे फ़ॉर्मेट का डाउनलोड बटन दे दिया है| आप इस बटन को क्लिक करके यह सारे port registration formats को डाउनलोड कर सकते हैं|

AD Code letter format: ad code registration letter format to customs

 bank ad code letter format image
Format of AD CODE letter

इस Ad Code letter Format के द्वारा आप जान सकते हैं की बैंक के द्वारा दिया हुआ एडी कोड लैटर किस प्रकार का होगा|

AD Code registration benefits

Shipping bill generate करने के लिए तथा सरकार द्वारा दिए जाने वाले सरकारी लाभों को सीधे अपने बैंक अकाउंट में प्राप्त करने के लिए आपका AD Code custom department में registerd होना चाहिए| 

जिस भी port पर सीमा शुल्क लगेगा, वहाँ पर आपका कस्टम हाउस एजेंट आपसे Ad code की डिमांड करेगा|

CUSTOM HOUSE AGENT के बारे में जानकारी लेने के लिए यह पोस्ट पढ़ें: Custom house agent का export-import business में क्या रोल होता है?

Bank role in AD Code

  • Port Registration के लिए Bank AD Code होना अनिवार्य है|
  • AD Code की Full form होती है- Authorized Dealer Code (ऑथराइज़्ड डीलर कोड)
  • यह एक सिंपल सा अप्रूवल होता है|
  • जिसके लिए हम अपने बैंक में जाकर एक application देनी होती है तो वह हमें AD Code की कॉपी Provide कर देते हैं|
  • क्योंकि हमारे देश का Exportबहुत ज्यादा नहीं है तो इसलिए ज्यादातर बैंकों के कर्मचारियों को इसकी जानकारी नहीं होती|
  • जब हम जाकर बैंक में AD Code मांगते हैं तो बहुत से कर्मचारी इस बात से अनभिज्ञ होते हैं|
  • इस कारण वह हमें सही जानकारी नहीं दे पाते| इसके लिए दोस्तों हमें किसी अच्छे बैंक में खाता खुलवा लेना चाहिए|
  • आपको यह भी पता कर लेना चाहिये की जिस बैंक में आप करंट अकाउंट खुलवा रहे हैं की वह विदेशी करन्सी में डील करने के लिए authorized है या नही?
  • Export Import Business के लिए कोई अलग से खाता नही खुलता- वही नॉर्मल चालू खाता (Current Account) होता है जो अन्य बिज़नेस में होता है परंतु कभी-कभी बैंक के कर्मचारी इस बात का फ़ायेदा अपने हित साधने के लिए करते हैं और वह ग्राहक को भ्रमित करके खाता खुलवाने की राशि को बढ़ा-चढ़ा कर बताते है|
  • Bank आपके घर के नजदीक भी होना चाहिए| 
  • मैं किसी बैंक का नाम नहीं देना चाहूँगा|

Port Registration: Video

Port Registration Process In Hindi – YouTube Video

Request Letter In Port Registration?

  • इसके लिए हमें एक Request Letter “Deputy Commissioner Of Custom” के नाम लिखना होता है|
  • Request Letter In Form Of Deputy Commissioner Of Customs With Export or Import Port Name
  • इसमे हमें अपना Port का नाम लिखना होता है, जिस पोर्ट से हम पहली बार एक्सपोर्ट या इंपोर्ट करेंगेl
  • Electricity Bill या लैंडलाइन फोन बिल की भी डिमांड हो सकती हैं|

Port registration में क्या डॉक्युमेंट्स लगेंगे?

Export Import Business में Port पर Registration करने के लिए हमें निम्न दस्तावेज भी देने होते हैं|

यह सभी जरूरी दस्तावेज़ नहीं है| इनमे से जो आपके पास उपलब्ध हो कोई एक चाहिए होता है|

अब हर किसी पर Passport तो होता नहीं है| 

1- आधार कार्ड 2- वोटर कार्ड 3- पासपोर्ट 

4- Passport Of Proprietor Or Director Of The Company प्रोपराइटरशिप का सर्टिफ़िकेट / लिमिटेड कंपनी है तो डायरेक्टर का सर्टिफिकेट

Port Registration में CHA Authorization letter क्या होता है?

हमें Export Import में एक CHA भी हायर करना पड़ता है जो Export Import में हमारी सबसे ज्यादा help करता है|

हमको उसका एक authorization letter भी Port Registration के समय देना होता है|

यदि आप स्वयं से कुछ भी कार्य नहीं करना चाहते| कुछ भी कार्य से मेरा मतलब Paper Work से है|

आप C.H.A. के माध्यम से इस कार्य को पूर्ण करवा सकते हैं| 

पर इसके लिए वह आप से चार्ज लेगा |

CHA के बारे में अधिक जानने के लिए पढ़ेंCustom House Agent का क्या रोल होता है?

ITR – पोर्ट पंजीकरण में देनी होती है?

हमें अपनी Income tax return Port Registration में देनी होती है|

अब तो कई लोगों के मन में यह सवाल उठता है कि हमने तो अभी काम शुरू किया है|

यदि  Income Tax 3 साल पुराना हो चुका है तो 3 साल का अन्यथा जितना टाइम हो चुका है उतने की देनी होती है| 

GST Registration पोर्ट पंजीकरण में अनिवार्य है?

हमें G.S.T. (Goods And Service Tax) Registration की एक कॉपी Port पर जमा करवानी होती है|

G.S.T. Export Import Business में एक जरूरी दस्तावेज़ है|

Excise Registration का पोर्ट रेजिस्ट्रैशन में महत्व?

  1. हमें Excise Registration की एक कॉपी भी जमा करवानी होती है|
  2. यह सारे Document Self Attest होने चाहिए|
  3. Self Attest का अर्थ है की आप स्वयं से उन पर अपने हस्ताक्षर कर दें|
  4. यदि आपकी कोई stamp भी है तो वह भी लगा दें|
  5. जैसे:- Proprietor की Stamp 

क्या Port Registration Online हो सकता है?

मेरे बहुत से viewers का यह सवाल रहता है की क्या पोर्ट रेजिस्ट्रैशन ऑन लाइन हो सकता है?

तो इसका जवाब है- नही, अभी तक ऑन लाइन पोर्ट रेजिस्ट्रैशन में online सुविधा शुरु नहीं हुई है| आपको physically present होना ही पड़ेगा पर आपका CHA आपके behalf पर यह कार्य कर सकता है|

Port Registration में कितनी पुरानी Bank Statement मांगते हैं?

हमें अपने बैंक की 6 महीने पुरानी Bank Statement जमा करवानी होती है|

तो दोस्तों फिर वही सवाल मन में उठता है कि हमने तो बैंक का खाता अभी खुलवाया है|

इसका मतलब यह है कि अगर बैंक का खाता आपका पुराना है तो 6 महीने की वर्ना जितने दिन की भी स्टेटमेंट है उतने दिन की|

PAN Card Photo Copy

  • हमें अपने PAN Card की फोटो कॉपी  भी जमा करानी होती है|
  • पैन कार्ड बनवाना बहुत ही आसान होता है| इसे आप किसी प्राइवेट एजेंसी के माध्यम से भी बनवा सकते हैं|
  • यह  agencies 500 से 1000 रुपए तक की फीस चार्ज करते हैं|
  • आप इसे स्वयं भी ऑनलाइन बनवा सकते हैं|  इसे ऑनलाइन बनवाना भी बहुत आसान है|
  • Online Pan Card Apply Here

IEC Code Stamp Signed

IEC Code की एक कॉपी स्टाम्प तथा साइन के साथ हमको जमा करवानी होती है|

एक बार एडी कोड पंजीकरण की प्रक्रिया पूरी होने के बाद – आयातक-निर्यातक और उसकी शिपिंग खेप की सभी बुनियादी जानकारी सरकार की official वेबसाईट ICEGATE वेबसाइट पर दिखाई देगी।

नोट:- यह documents समय-समय पर बदल भी सकते हैं|

इनमे बदलाव का एक मुख्य कारण Export Business को बढ़ावा देना भी हो सकता है| अतः आपसे अनुरोध है यदि आपको कोई नई जानकारी मिलती है तो आप मुझे उससे अवगत ज़रुर करवाएँ|

FAQs: Port registration

क्या पोर्ट रजिस्ट्रेशन ऑनलाइन हो सकता है?

अभी तक पोर्ट रजिस्ट्रेशन की ऑनलाइन सुविधा नहीं शुरू हुई है|

पोर्ट रजिस्ट्रेशन कितनी बार करना पड़ेगा?

जब भी आप पहली बार किसी पोस्ट से एक्सपोर्ट इंपोर्ट करोगे तो आपको उस पोस्ट पर केवल एक बार रजिस्ट्रेशन करवाना पड़ेगा|

क्या AD code registration तथा Port registration एक ही चीज होती है?

जी नहीं, यह दोनों अलग-अलग रजिस्ट्रेशन है| ए डी कोड रजिस्ट्रेशन बैंक से होता है तथा वह AD code रजिस्ट्रेशन पोर्ट पर रजिस्टर्ड कराने को पोर्ट रजिस्ट्रेशन कहते हैं|

पोर्ट रजिस्ट्रेशन के लिए क्या-क्या डॉक्यूमेंट चाहिए?

1- बैंक ए डी कोड 2- रिक्वेस्ट लेटर 3- आईडेंटिटी डॉक्युमेंट 4- सीए का ऑथराइजेशन लेटर 5- आई टी आर की कॉपी 6- जीएसटी रजिस्ट्रेशन की कॉपी 7- पैन कार्ड 8- IEC Code स्टैंप साइन के साथ|

साथ ही यह अवश्य पढ़ें:

Indian Trade Portal क्या है? इसका आयात निर्यात में क्या फ़ायदा है?

बिल ऑफ एक्सचेंज क्या होता है?, परिभाषा, प्रकार तथा आवश्यक तत्व

कंटेनर में कितना माल आएगा कैसे हिसाब लगाएं?

Trademark registration process कैसे होता है? और कितनी फ़ीस लगती है?

एक्सपोर्ट-इम्पोर्ट बिज़नेस में कौन-कौन से डॉक्युमेंट्स लगते हैं?

यदि आपको यह पोस्ट अच्छा लगा हो तो आप अपनी राय या सुझाव अवश्य दें जिससे की और ज़्यादा काम आने वाली पोस्ट आपको मिल सके|

साथ ही इस पोस्ट को शेयर अवश्य करें जिससे की अन्य लोगों की भी मदद हो सके|

धन्यवाद

Previous articleIndia export-import data | India import and export data 2020
Next articleमसालों की फोटो हिन्दी तथा इंग्लिश नाम के साथ | Spices list: Export list of spices
प्यारे दोस्तों, मैं नवीन कुमार एक बिज़नेस ट्रैनर हूँ| अपने इस ब्लॉग के माध्यम से मैं आपको - आयात-निर्यात व्यवसाय (Export-Import Business), व्यापार कानून (Business Laws), बिज़नेस कैसे शुरु करना है?(How to start a business), Business digital marketing, व्यापारिक सहायक उपकरण (Business accessories), Offline Marketing, Business strategy, के बारें में बताऊँगा|| साथ ही साथ मैं आपको Business Motivation भी दूंगा| मेरा सबसे पसंदीदा टॉपिक है- “ग्राहक को कैसे संतुष्ट करें?-How to convince a buyer?" मेरी तमन्ना है की कोई भी बेरोज़गार न रहे!! मेरे पास जो कुछ भी ज्ञान है वह सब मैं आपको बता दूंगा परंतु उसको ग्रहण करना केवल आपके हाथों में है| मेरी ईश्वर से प्रार्थना है की आप सब मित्र खूब तरक्की करें! धन्यवाद !!