गद्दे बनाने की फैक्ट्री कैसे लगायें? | Mattress manufacturing process in Hindi

43

इस पोस्ट के माध्यम से आप गद्दे बनाने की फैक्ट्री कैसे लगायें?: Mattress manufacturing process के विषय में  जानेंगे|

हो सकता है की आपको ना पता हो!! इसके लिए मैं आपको बता देता हूं कि मेरी स्वयं गद्दों की मैन्युफैक्चरिंग यूनिट है| इस कारण से मैं आपको Mattress manufacturing process के बारे में बहुत अच्छी तरह से समझा सकता हूं|

गद्दे क्या होते हैं?

Mattress manufacturing process को समझने से पहले आपको गद्दे क्या होते हैं इसके विषय में भी जान लेना चाहिए| 

गद्दे (Mattress) की परिभाषा: एक बड़ी नरम या कम मुलायम चीज जिसे सोने के लिए इस्तेमाल किया जाता है, आमतौर पर इसे बिस्तर पर रखा जाता है| इसे गद्दा कहते हैं|

गद्दे के व्यवसाय का भविष्य क्या है?

जिस प्रकार से तेजी के साथ आधुनिकीकरण होता जा रहा है|  मानव सभ्यता तेजी से जीवन शैली में बदलाव करती जा रही है| इस बदलाव के कारण ही लोग अपने सोने के तौर तरीकों को भी बदल रहे हैं| शहरों में ही नहीं गांवों में भी यह बदलाव साफ तौर पर देखा जा सकता है|

कुछ समय पहले तक लोग गद्दो के विषय में अधिक नहीं जानते थे| परंतु अब जमाना बदल चुका है| अधिकांश लोग गद्दे से परिचित हैं| 

एक रिपोर्ट के आधार पर: भारत में गद्दा बाजार 2018 में USD 1.7 बिलियन (1700000000 Rs.) के आसपास है और 2022 तक USD 2.5 बिलियन (2500000000 Rs.) तक पहुंचने के लिए 10% के CAGR में बढ़ने की उम्मीद है!

उपयुक्त आंकड़ों के द्वारा आप निश्चित ही समझ गए होंगे की गद्दे के व्यवसाय का क्या भविष्य है|

Mattress बिज़नेस करने के क्या फायदे होते हैं?

यदि आप गद्दे के व्यवसाय के फायदे के बारे में जाने इनकी लिस्ट इस प्रकार है|

डिज़ाइन

सबसे मुख्य फायदा गद्दे के व्यवसाय में कभी भी डिजाइन की डिमांड नहीं होती| हां उसके ऊपर के फैब्रिक के कलर के विषय में थोड़ी सी मांग में फेरबदल हो सकता है|  परंतु यह भी इतना ज्यादा नहीं होता क्योंकि गद्दे के ऊपर अक्सर लोग एक लूज कवर चढ़ा कर रखते हैं|  

इसके साथ ही gaddey के ऊपर चद्दर अवश्य बिछी रहती है जिस कारण से गद्दे के फैब्रिक का क्या कलर या डिजाइन है इसका कोई महत्व ही नहीं रह जाता| 

साइज़

आमतौर पर गद्दे के निश्चित साइज ही मार्केट में चलते हैं|  इन निश्चित साइजों को आप आसानी से स्टॉक करके रख सकते हैं| इन साइजों की संख्या भी बहुत ज्यादा नहीं होती| यदि किसी को किसी अलग प्रकार का साइज चाहिए तो वह आपको उसे बनाने के लिए कुछ वक्त का  समय अवश्य देगा|  ग्राहक को भी है पता होता है कि मार्केट में क्या साइज चलते हैं?

फोन पर ऑर्डर

जैसे दोना-पत्तल व्यवसाय में एक मैन्युफैक्चरर को आसानी से फोन पर आर्डर मिल सकता है  ठीक उसी प्रकार एक  मैट्ट्रेस मैन्युफैक्चरर्स को एक रिटेलर फोन पर आसानी से गद्दों का ऑर्डर कर सकता है| 

हर आइटम की क्वालिटी फिक्स होती है|  मैन्युफैक्चर द्वारा केवल पहली बार ही अपने रिटेल दुकानदार को सैंपल दिखाने की आवश्यकता होती है|  उसके बाद वह आपसे फोन पर ही  अपना आर्डर लिखवा देगा|

जैसे की: रेडीमेड गारमेंट व्यवसाय में  या किसी अन्य फैशनेबल प्रोडक्ट में फोन पर आर्डर नहीं दे सकते|

नोट: इस प्रकार के आइटम्स में आप केवल रिपीट ऑर्डर ही फोन पर दे सकते हैं| 

प्राइस में बढ़ोतरी 

क्या आप जानते हैं कि गद्दों  के व्यापार में प्राइस बढ़ने से पहले मैन्युफैक्चर को तथा मैन्युफैक्चरर के द्वारा रिटेलर को सूचित कर दिया जाता है? जिससे कि वह  पुराने रेटों में अपना आर्डर लिखवा सकें| 

 जी हां, जैसा कि आप जानते हैं कि मैं गद्दों का व्यापार करता हूं| मेरी गद्दों की फैक्ट्री भी है| कुछ फ़ोम के निर्माताओं से भी मेरी गहरी दोस्ती है| इस कारण से मुझे कुछ अन्य प्रतिस्पर्धीयों की तुलना में काफी पहले जानकारी मिल जाती है|

फोम बनाने के लिए मुख्यतः टीडीआई तथा पॉलीयोल जैसे केमिकलों का इस्तेमाल होता है| जब भी इन केमिकल के रेट बढ़ने वाले होते हैं तो केमिकल कंपनियों द्वारा पूर्व सूचना दे दी जाती है| 

यहां पर भी पुराने रेट पर केमिकल खरीदने की सुविधा मिल जाती है|

चोरी

गद्दों का साइज इसके आसानी से चोरी होने में रुकावट डालता है|  जिन कंपनियों में जहां पर छोटे आइटम का उत्पादन होता है वहां पर छुट्टी के समय मजदूरों की चेकिंग की जाती है|

गद्दे का साइज बड़ा होने के कारण कोई इसे जेब में रखकर नहीं ले जा सकता| 

नोट:  इस प्रकार चेकिंग करने से मजदूरों के मन में भी हीन भावना की उत्पत्ति होती है परंतु मालिक द्वारा यह कार्य मजबूरी के तहत ही किया जाता है क्योंकि कुछ लोगों द्वारा किया गया कार्य पूरी प्रजाति को बदनाम कर देता है| 

स्टॉक की एंट्री

इनके स्टॉक की एंट्री आसानी से हो जाती है तथा चेक करने पर काउंटिंग भी करना बहुत आसान होता है| आप बहुत ही आसानी द्वारा इनको गिन सकते हैं| 

समाप्ति तिथि

यदि आप का स्टॉक काफी समय तक भी रखा रहे तब भी उसकी एक्सपायरी नहीं होती| यदि आप गद्दे के निर्यात का व्यवसाय करते हैं तो इससे आपको इस खूबी का काफी फायदा मिल सकता है|

मान लो आपका आपका Buyer किसी भी प्रकार से प्रोडक्ट का प्राइस सस्ता करवाना चाहता है तो आप उसे ट्रांशिपमेंट का सुझाव दे सकते हैं| 

Mattress बिज़नेस करने के क्या नुकसान होते हैं?

किसी भी व्यवसाय में फायदा तथा नुकसान दोनों होते हैं| अब इसमें आपको चुनना होता है कि उस व्यवसाय में आपको नुकसान अधिक है या फायदा अधिक है?

चलिए बात करते हैं मैट्रेस  व्यवसाय के क्या नुकसान होते हैं? 

साइज़

अब इसी बात से आप देख लीजिए कि गद्दे का साइज एक तरफ जहां फायदा पहुंचाता है वहीं दूसरी तरफ नुकसान भी पहुंचाता है|

बड़ा साइज होने के कारण हमें इसके स्टोरेज के लिए अधिक बड़े स्थान की आवश्यकता होती है|  छोटे गोदाम में आप ज्यादा स्टोरेज नहीं कर सकते|

ट्रांसपोर्टेशन

बड़ा साइज होने के कारण इसके ट्रांसपोर्टेशन की लागत बढ़ जाती है|  किसी भी टेंपो या ट्रक में वजन की तुलना में बहुत कम गद्दे लोड होते हैं|  यानी कि ट्रक कम गद्दों में ही भर जाएगा परंतु उस सारे माल का वजन एरिया के हिसाब से बहुत कम होगा|

एक्सपोर्ट बिजनेस में इनको कंप्रेसर मशीन द्वारा पिचकाकर पैक किया जाता है|

इससे काफी अधिक मात्रा में गद्दे कंटेनर में आ जाते हैं| किसी स्थान पर कितना माल आ जाएगा?  इसके बारे में आपको अवश्य ही पता होना चाहिए|

गंदा होना

यदि गद्दों का कपड़ा लाइट कलर का है तो उसके गंदा होने की संभावना बहुत अधिक हो जाती हैं| मेरी फैक्ट्री में अक्सर गद्दों की टेप एजिंग करते समय उन पर मशीन कि ग्रीस से दाग लग जाता है|

परंतु हमारे लिए यह सामान्य से बात है| इसके लिए हमारे पास केमिकल स्प्रे मशीन होती है| इस मशीन की  सहायता से हम बड़ी ही आसानी से वह दाग साफ कर देते हैं|

गद्दे कितने प्रकार के होते हैं?

Mattress manufacturing process को अच्छी तरह समझने के लिए आपको मैट्रेस कितने प्रकार के होते हैं इसके विषय में जानना अत्यंत ही आवश्यक है|

mattress manufacturing process
Mattress types list
  1. गद्दे बहुत से प्रकार के होते हैं जैसे कि:
  2. बॉन्डेड फोम के गद्दे  (Bonded foam mattress) 
  3. नारियल का गद्दा (Coir Mattress)
  4. लेटेक्स फोम के गद्दे (Latex foam mattress)
  5. स्प्रिंग के गद्दे (Spring mattress)
  6. पॉकेट स्प्रिंग के गद्दे (pocket spring mattress
  7. बोनेल स्प्रिंग के गद्दे (bonnell spring mattress
  8. फोम के गद्दे (Foam mattress)
  9. सॉफ्ट फोम के गद्दे (Softy foam mattress)
  10. H.R. फोम के गद्दे (High resilience foam mattress)
  11. पिलो टॉप  गद्दे (Pillow top mattress)
  12. यूरो टॉप  गद्दे (Euro top mattress)
  13. पानी वाले वाले गद्दे (Water mattress)
  14. हवा वाले गद्दे (Air mattress)
  15. मेमोरी फोम के गद्दे (Memory foam mattress)
  16. Gel फोम के गद्दे (Gel foam mattress)
  17. मुलायम तथा सख्त गद्दा (Hard and soft mattress)

गद्दे बनाने का बिजनेस कैसे शुरू करें: How to start a mattress manufacturing business in India: In Hindi

1: सबसे पहले सामान्य जानकारी लें?

सबसे पहले आपको Mattress के बारे में  सामान्य जानकारी ले लेनी चाहिए| इसकी जानकारी लेने के लिए आप Mattress Store  वेबसाइट पर विजिट कर सकते हैं| 

इस वेबसाइट पर आपको गद्दों के बारे में सारी जानकारी मिल जाएगी| 

2: रजिस्ट्रेशन कैसे होगा?

किसी भी लघु उद्योग की तरह आप आसानी से मैट्रेस मैन्युफैक्चरिंग यूनिट लगा सकते हैं| किसके लिए बहुत थोड़े से सामान्य दस्तावेजों की ही जरूरत होती है| 

एमएसएमई द्वारा भी इसमें आपको काफी मदद मिल सकती है| 

यदि आप किसी विशेष नामों के द्वारा अपना उत्पाद मार्केट में उतारना चाहते हैं तो आपको उस नाम को रजिस्टर्ड अवश्य ही करवा लेना चाहिए| 

रजिस्ट्रेशन करवाने के लिए यह पोस्ट पढ़ें: ट्रेडमार्क रजिस्ट्रेशन कैसे होता है तथा कितनी फीस लगती है? 

रजिस्टर्ड करवाने के बाद आपके उस नाम को कोई और मैन्युफैक्चरर नहीं रख सकता| आने वाले समय में आप एक कंपनी बनाकर अपने प्रोडक्ट को एक ब्रांड के रूप में आसानी से पेश कर सकते हैं|

3: Mattress manufacturing process के लिए कितनी जगह चाहिए?

जैसा कि आप जानते हैं कि यह प्रोडक्ट जगह बहुत घेरता  है इसलिए आपको कम से कम 100 गज जगह यानी 900 स्क्वायर फुट की आवश्यकता होगी| 

काम चलने पर आपको यह जगह बहुत थोड़ी लगने लग जाएगी| 

4: Mattress manufacturing process में क्या-क्या कच्चा माल चाहिए?

क्योंकि गद्दे बहुत से प्रकार के बनते हैं इसलिए मैं सब गद्दों में इस्तेमाल होने वाला मटेरियल यहां पर लिख रहा हूं|

  • फोम शीट
  • लेटेक्स शीट
  • मेमोरी फोम शीट
  • H.R. फोम शीट
  • बॉन्डेड फोम शीट
  • कपड़ा/  क्विल्ट कपड़ा 
  • बिडिंग (कपड़े की)
  • नारियल की सीट 
  • पॉकेट स्प्रिंग का जाल
  • बोनेल स्प्रिंग का जाल
  • कंबल/ नमदा/फेल्ट
  • सिलोचन /  बोसटिक / पेस्टिंग केमिकल
  • पैकिंग के लिए पन्नी 
  • साइड बटन
  • कॉर्नर लेबल
  • लेबल 
  • सेलो टेप 

5: Mattress manufacturing process में क्या मशीनरी चाहिए?

मैट्रेस की फैक्ट्री लगाने के लिए क्या-क्या मशीनरी चाहिए? इसकी लिस्ट भी मैं नीचे दे रहा हूं|

  • कैंची
  • 12 इंची छुरा
  • सेलो टेप चिपकाने वाला रोलर|
  • सिलाई मशीन
  • कपड़े पर सीधा निशान लगाने के लिए फंटी 
  • फोम पर सीधा निशान लगाने के लिए फंटी
  • कपड़ा काटने के लिए कटर 
  • फ़ोम काटने वाला कटर
  • निशान लगाने के लिए मार्कर /  चौक 
  • फोम काटने के  के लिए कटर
  • गद्दे बनाने के लिए टेबल
  • सिलोचन लगाने के लिए कंप्रेसर मशीन / बोनेल स्प्रिंग के जाल में पिन लगाने के लिए मशीन|
  • दाग छुड़ाने के लिए इलेक्ट्रिक केमिकल स्प्रे गन 
  • मैट्रेस कंप्रेस मशीन
  • टेप एज मशीन (Tape edge machine) 

6: ग्राहक कैसे मिलेगा?

आप इस लेख को पढ़कर ग्राहक आसानी से खोज सकते हैं: ग्राहक कैसे ढूंढे?

7: सेल डील कैसे करनी है?

शुरुआत में आपको हमेशा उधार माल बेचने से दूर ही रहना चाहिए|  कुछ समय बाद यदि  आपको ऐसे दुकानदार मिल जाते हैं जो की पेमेंट देने के मामले में ठीक हैं उनसे आपको पेमेंट टर्म इस प्रकार रखनी चाहिए|

  1.  एडवांस पेमेंट पर 3 पर्सेंट की छूट 
  2. 15 से 30 दिन की उधारी या अगला आर्डर जो भी पहले आएगा| 

 यानी ग्राहक को माल लिए 30 दिन हो जाते हैं और वह अगला आर्डर नहीं देता तो आप उससे अपनी पेमेंट मांग सकते हैं| वर्ना वह सालों तक भी आपकी पेमेंट नहीं देगा| 

एक हफ्ते बाद ही ग्राहक दूसरा ऑर्डर दे देता है तो आपको उससे अपना पिछला बकाया वसूल लेना चाहिए|  वर्ना 30 दिन में तो वह करोड़ों रुपए का माल भी ले सकता है!! 

8: Mattress manufacturing unit में कितने धन की आवश्यकता होगी?

यदि आप लग्जरी गद्दे बनाना चाहते हैं तो उसके लिए शुरुआत में लगभग 10 लाख रुपए की आवश्यकता होगी| 

चालू गद्दे बनाने के लिए तीन लाख रुपए से काम शुरू हो जाएगा| क्योंकि इसमें टेप एज मशीन की जरूरत नहीं पड़ेगी| इसमें आप हाथ से कवर चढ़ा सकते हैं| 

स्प्रिंग मैट्ट्रेस, मेमोरी फोम मैट्ट्रेस महंगे बनते हैं|  इनका कच्चा माल भी महंगा होता है तो स्वाभाविक सी बात है की स्टार्टिंग में इस प्रकार की मैन्युफैक्चरिंग यूनिट लगाने के लिए आपको धन ज्यादा चाहिए| 

9: क्या-क्या सेफ्टी रखनी है?

  • आग लगने से बचाने के लिए फायर सिलेंडर तथा नाइट्रोजन बॉल आपकी फैक्ट्री में हमेशा रखी होनी चाहिए|
  • अच्छी वायरिंग का इस्तेमाल करना चाहिए|
  • धूम्रपान निषेध होना चाहिए| फोम अत्यधिक ज्वलनशील पदार्थ है इसके साथ ही सिलोचन उससे भी बहुत ज्यादा ज्वलनशील पदार्थ है| यदि कोई व्यक्ति स्टूल पर बैठ कर सिगरेट पी रहा है और उसके स्कूल के किनारे पर सिलोचन का कोई डब्बा खुला हुआ रखा है तो वह सिलोचन लगभग 2 फुट की ऊंचाई से भी आग पकड़ लेगा|  इसकी आग को बुझाना भी बहुत मुश्किल होता है| 
  • किसी भी प्रकार की आग लगने वाली मशीनरी का बहुत सावधानी से इस्तेमाल करना चाहिए| जैसे कि:  फैक्ट्री में यदि आप किसी स्थान पर वेल्डिंग करवा रहे हैं तो आपको विशेष रूप से इस बात का ध्यान रखना चाहिए| 
  • फैक्ट्री का फायर इंश्योरेंस अवश्य ही करवाना है| 
  • हवा निकासी का साधन जरूर होना चाहिए| क्या आप जानते हैं? कि केमिकल को बहुत देर तक सूंघने पर बहुत गहरा नशा हो जाता है!  जी हां, यदि आपकी फैक्ट्री में  एयर सरकुलेशन ठीक प्रकार से नहीं हो रहा तो आप इस नशे की चपेट में आ सकते हैं| शुरुआत के दिनों में जब मैं इस बात को नहीं जानता था तब मैं इसका शिकार हो चुका हूं| 

उम्मीद करता हूं मेरे द्वारा लिखा गया यह पोस्ट: (गद्दे बनाने की फैक्ट्री कैसे लगायें?: Mattress manufacturing process: In Hindi) आपके बहुत काम आएगा साथ ही आपको बहुत अच्छा भी लगा होगा| मैं नवीन कुमार आपसे इजाजत चाहता हूं| अगली पोस्ट में फिर मिलेंगे तब तक के लिए नमस्कार!

धन्यवाद|

Previous articleपेपर प्लेट बनाने का बिजनेस कैसे शुरु करें | Paper Plate Manufacturing business in Hindi
Next articleजॉइंट वेन्चर क्या होता है? | Joint venture meaning in Hindi
प्यारे दोस्तों, मैं नवीन कुमार एक बिज़नेस ट्रैनर हूँ| अपने इस ब्लॉग के माध्यम से मैं आपको - आयात-निर्यात व्यवसाय (Export-Import Business), व्यापार कानून (Business Laws), बिज़नेस कैसे शुरु करना है?(How to start a business), Business digital marketing, व्यापारिक सहायक उपकरण (Business accessories), Offline Marketing, Business strategy, के बारें में बताऊँगा|| साथ ही साथ मैं आपको Business Motivation भी दूंगा| मेरा सबसे पसंदीदा टॉपिक है- “ग्राहक को कैसे संतुष्ट करें?-How to convince a buyer?" मेरी तमन्ना है की कोई भी बेरोज़गार न रहे!! मेरे पास जो कुछ भी ज्ञान है वह सब मैं आपको बता दूंगा परंतु उसको ग्रहण करना केवल आपके हाथों में है| मेरी ईश्वर से प्रार्थना है की आप सब मित्र खूब तरक्की करें! धन्यवाद !!