शेयर मार्केट में कैसे निवेश करें? | How to invest in share market

443

इस पोस्ट में आप शेयर मार्केट में निवेश के तरीकों (How to invest in share market) के बारे में जानेंगे| आपके कुछ चुनिंदा सवालों के जवाब भी इस पोस्ट में मिलेंगे जैसे कि: आखिर! लोगों को स्टॉक मार्केट से डर क्यों लगता है?, स्टॉक मार्केट में किस तरह के रिस्क होते हैं?,  स्टॉक मार्केट से हमें कितना मुनाफा मिल सकता है? जैसे सवालों के जवाब मिलेंगे| 

स्टॉक मार्केट से डर क्यों लगता है?

यह मनुष्य की प्रकृति से संबंधित है|  जहां पर भी धन संबंधी विषय आते हैं,  वहां पर यदि व्यक्ति को सही जानकारी ना हो या वह पहली बार निवेश कर रहा हो तो उसको डर लगना तय है|

जब हमें विषयों की अच्छी तरह जानकारी मिल जाती है तो, हमारे मन से डर निकल जाता है|

जब आप किसी विषय पर अच्छी तरह अध्ययन कर लेते हैं तो, उस विषय में आपके मन से डर निकल जाता है| 

कुछ इसी प्रकार से लोग स्टॉक मार्केट से डरते हैं| इस विषय में लोग जानकारी नहीं लेते इसलिए उनमें आत्मविश्वास की कमी आ जाती है, इसका परिणाम यह होता है कि लोगों के मन में स्टॉक मार्केट के प्रति डर बैठ जाता है|

साथ ही साथ हम अक्सर समाचार पत्रों या न्यूज़ चैनलों के माध्यम से यह भी सुनते रहते हैं कि आज निवेशकों के करोड़ों रुपए स्वाहा हो गए! तब हमारे मन में आता है कि “ निश्चित तौर पर, स्टॉक मार्केट में पैसा लगाने से वह डूब जाएगा!”

जबकि यह बात बिल्कुल गलत है| लोग इसको जुआ कहने लगे हैं| यदि स्टॉक मार्केट जुआ है तो वह सभी काम जिन्हे शुरू करने पर, हमें उसकी आमदनी का नहीं पता वह सभी जुआ है| 

और ऐसा कोई काम नहीं है जिसमें हम भविष्य देख कर यह बता सके कि हम इससे कितना पैसा कमा सकते हैं? 

आपको यह जानना बहुत जरूरी है कि स्टॉक मार्केट बहुत ही महत्वपूर्ण है| पूरे राष्ट्र  की अर्थव्यवस्था में इनका महत्वपूर्ण योगदान है| 

सरकार द्वारा स्टॉक मार्केट को कंट्रोल किया जाता है तथा अब तो बहुत सारे सरकारी विषय जैसे कि पेंशन स्कीम्स इत्यादि भी स्टॉक मार्केट पर उपलब्ध है| 

जब स्टॉक मार्केट बहुत अच्छा चल रहा होता है (Bull run) काफी लोग इससे अच्छा मुनाफा कमा लेते हैं|

इसी बीच में कुछ नए निवेशक भी आ जाते हैं|

जब सब का फायदा हो रहा होता है तो इन नए निवेशकों का भी फायदा हो जाता है| खुशी खुशी में वह अपने सब जानकारों को बताता है  कि “कैसे उसने थोड़ी सी अवधि में इतना मुनाफा कमा लिया है?” 

यह नए निवेशक भी स्टॉक मार्केट पैसा लगा देते हैं| अब! इन लोगों को यह नहीं पता होता कि स्टॉक मार्केट कभी भी नीचे जा सकती है| 

अब! यह नए निवेशक ज्यादा मुनाफा कमाने के चक्कर में, स्टॉक मार्केट से कमाया हुआ सारा प्रॉफिट तथा अपने पास से भी अतिरिक्त धन मिलाकर सारा निवेश एक बार में ही कर देते हैं|

अब! जब यह निवेश करते हैं,  उस समय मार्केट गिरना शुरू हो जाता है,  गिरते-गिरते-गिरते-गिरते-गिरते शेयर मार्केट धड़ाम हो जाती है| इन्होंने जो भी पैसा लगाया है उसका लगभग 80% पैसा डूब जाता है| 

यहां पर समझने वाली बात यह है कि  शेयर मार्केट में पैसा कब लगाना है? तथा कब वहां से पैसा निकाल लेना है? 

इन जितने भी लोगों का नुकसान हुआ है, यह लोगों से यही कहेंगे कि “शेयर मार्केट में नुकसान ही होता है|”

यदि आप लंबी अवधि के लिए स्टॉक मार्केट में निवेश करते हैं तो आपको निश्चित तौर पर मुनाफा ही होगा| 

ऐसा मैं इसलिए कह रहा हूं कि यदि आप पिछले 40 साल का स्टॉक मार्केट का ग्राफ उठाएंगे तो, यह ऊपर ही गया है| 

बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज जहां पर यह सारी कंपनियों के स्टॉक ट्रेड किए जाते हैं| 

इसका एक इंडेक्स होता है| 

यानि कि यदि आपने 40 साल पहले ₹5000 निवेश किए होते तो आज उनकी कीमत लगभग 18 लाख होती|

यानी कि अगर मोटे तौर पर देखें तो यह 17 परसेंट के तकरीबन का रिटर्न हो गया| 

सेंसेक्स ऊपर नीचे क्यों जाता है?

जब तक आप यह नहीं जानोगे की सेंसेक्स ऊपर नीचे क्यों जाता है तब तक आप अच्छी तरह स्टॉक मार्केट में निवेश कैसे करें? (How to invest in share market) के विषय को भी अच्छी तरह नहीं समझ पाओगे!

जैसा कि आप जानते हैं सेंसेक्स टॉप 30 कंपनियों को रिप्रेजेंट करता है|

जब इन कंपनियों को मुनाफा तथा घाटा होता है तो तब स्टॉक की कीमत घटती है बढ़ती है| इसी कारण से सेंसेक्स ऊपर नीचे जाता है| ज्यादा जानने के लिए लिंक को क्लिक करें – क्लिक लिंक

इन कंपनियों को नुकसान तथा फायदे में वैसे तो बहुत सारे कारण होते हैं  परंतु, इसमें मुद्रास्फीति का बहुत बड़ा हाथ होता है| इन कंपनियों के प्रोडक्ट की सेल ज्यादा होती है, और यह ज्यादा मुनाफा कमाती हैं तो इन के शेयर की कीमत भी बढ़ जाती है|

सबसे बड़ा हाथ लोगों के समूह की एक जैसी सोच का हो जाना है|  जब बड़ी संख्या में लोगों का समूह यह सोचने लगता है कि अब शेयर मार्केट नीचे जाएगी, तो वह इस कारण से अपने स्टॉक  बेचने शुरू कर देते हैं|

 इसका नतीजा यह होता है कि लोग तेजी से अपने शेयर बेचना शुरू कर देते हैं|  कुछ लोग डर के कारण अपने शेयर बेचने शुरू कर देते हैं|

नतीजा! शेयर मार्केट धड़ाम से गिर जाती है| 

आपको एक रिटर्न चार्ट की मदद से अच्छी तरह समझ में आएगा कि आपको किस जगह निवेश करने पर कितना रिटर्न मिल जाएगा?

यह सारे आंकड़े लगभग में हैं और दिए गए तथ्यों के आधार पर इकट्ठा किए गए हैं| 

Different types of investment return percentage

Return PercentageTypes of investment
6%Debt fund
7%Fixed Deposit (FD)
6%Real Estate 
6%Gold
0% Current Account
4%Saving Account
14%Mutual Fund
16-18%Share Market

How to invest in share market

अब! मैं आपको एक एक करके उन सारे स्टेप्स के बारे में बताऊंगा जो share market में investment करने के लिए जरूरी हैं| 

इन स्टेप्स को फॉलो करके आप बहुत ही आसानी के साथ share market में investment कर सकते हैं| 

तो देखते हैं! शेयर मार्केट इन्वेस्टमेंट स्टेप्स क्या है?

Step:1 – Documents

सबसे पहले आपके पास एक पहचान पत्र, एक बैंक खाता तथा एक पैन कार्ड होना चाहिए|

PAN (permanent account number) को आप NSDL की साइट से अप्लाई कर सकते हैं| 

Step:2 – Demat account

Apply for Demat account: आपको एक डीमैट अकाउंट खुलवाना पड़ेगा| ऑनलाइन डिमैट अकाउंट खुलवाने के लिए आप NSDL या CDSL के द्वारा खुलवा सकते हैं|

या फिर आप अपने पसंद के शेयर ब्रोकर द्वारा भी डिमैट अकाउंट खुलवा सकते हैं|

इस डिमैट अकाउंट में आपने जो भी स्टॉक खरीदे हैं, उनको रख सकते हैं| 

Step:3 – Broker selection criteria

आपको, अपने शेयर ब्रोकर के पास एक ट्रेडिंग अकाउंट खुलवाना है|

ट्रेडिंग अकाउंट की मदद से आप अपने स्टॉक्स को खरीद या बेच सकते हैं| 

शेयर ब्रोकर को चुनने से पहले आपको कुछ इन बिंदुओं पर ध्यान देने की आवश्यकता है| 

Brokerage fees: आपका ब्रोकर आपसे कितनी फीस चार्ज कर रहा है?

अलग-अलग ब्रोकर अपने यहां खाता खुलवाने के लिए आपको कुछ पसंदीदा ऑफर दे सकते हैं| जीरो ब्रोकरेज फीस के प्लेटफार्म भी उपलब्ध हैं|

Trading software: आपको पहले ट्रेडिंग सॉफ्टवेयर को इस्तेमाल करके देख लेना चाहिए|  कहीं ऐसा ना हो कि आपको वह बहुत मुश्किल लगे| कुछ दिन आप इस पर सीखने की कोशिश अवश्य करें| अब! आप यह तय करें कि आपके लिए कौन सा ट्रेडिंग सॉफ्टवेयर ठीक है? 

Multiple assets: ब्रोकर प्लेटफार्म पर बहुत सारे ऐसैट्स में आप निवेश कर सकते हैं जैसे कि: इक्विटीआईपीओ, बॉन्ड, म्यूचल फंड तथा कुछ जगहों पर इंश्योरेंस में भी निवेश कर सकते हैं| 

Step:4 – KYC Updation

KYC: आपको अपना केवाईसी अपडेट करवाना पड़ेगा| इसके लिए आपका पहचान पत्र(Identity number),  आवासीय पता (Address proof) तथा पैन कार्ड नंबर (PAN) लगेगा|

सामान्य तौर पर,  पहचान पत्र की कॉपी,  एड्रेस प्रूफ की कॉपी, पैन कार्ड की कॉपी तथा एक कैंसिल चेक लगता है| 

Step:5 – Login detail

जब आपका खाता खुल जाता है तो आपको एक यूजर नेम तथा पासवर्ड दिया जाता है|  इसके द्वारा आप ऑनलाइन अपने खाते में लॉगिन कर सकते हैं| 

पासवर्ड या तो आपके घर पर कुरियर द्वारा आएगा या फिर आपको मेल द्वारा मिलेगा या आपका ब्रोकर आपको फोन पर भी बता सकता है|

इस पासवर्ड को मिलने के बाद आपको इसे अपडेट करना पड़ता है| कुछ समय सीमा के बाद में, आपको इस पासवर्ड को अपडेट करना अनिवार्य है| 

Step:6 – Bank linking

एक बार जब यह सारी प्रक्रिया पूरी हो जाती है तो आप शेयर की ट्रेडिंग करने के लिए तैयार हो गए हो|

आपको अपना बैंक अकाउंट अपने ट्रेडिंग अकाउंट के साथ लिंक करना अनिवार्य है| इसे करने से आपके द्वारा किए जाने वाले ट्रांजैक्शन आपके बैंक से होंगी| 

Step:7 – Alert Messages

आपका ब्रोकर आपके द्वारा की जाने वाली ट्रांजैक्शन की डिटेल मैसेज द्वारा आपके मोबाइल पर भेज देगा| 

साथ ही यह भी अवश्य देखें:

आप शेयर मार्केट से पैसा कमाना चाहते हैं तो आपको यह पोस्ट अवश्य पढ़नी चाहिए|  इन सभी पोस्ट को पढ़ने के बाद आपके इस सवाल टी शेयर मार्केट में कैसे निवेश करें? (How to invest in share market) का जवाब मिल जाएगा|

Intraday trading क्या होती है? 

शेयर जारी (Issue) करने की प्रक्रिया जानें

IPO में निवेश की रणनीति

शेयर तथा डिबेंचर में क्या अंतर होता है?

शेयर कैपिटल क्या होती है?

शेयर ज़ब्ती (Forfeiture) क्या होती है?

निफ्टी और सेंसेक्स क्या है?

Dividend क्या होता है?

Mutual funds की सारी जानकारी 

आपने क्या सीखा?

 इस पोस्ट के माध्यम से आपने शेयर मार्केट में कैसे निवेश करें? (How to invest in share market), लोग शेयर मार्केट में निवेश करने से क्यों डरते हैं?  इत्यादि के बारे में जाना|

उम्मीद करता हूं आपको यह पोस्ट पसंद आई होगी कृपया इसे अधिक से अधिक मात्रा में शेयर अवश्य करें| धन्यवाद|

Previous articleExclusive: सरकार ने BEML के विनिवेश की तरफ एक ओर बड़ा कदम बढ़ाया!!
Next articleBusiness loan कैसे मिलेगा? बिजनेस लोन के लिए डॉक्यूमेंट, योग्यता एवं शर्तें
प्यारे दोस्तों, मैं नवीन कुमार एक बिज़नेस ट्रैनर हूँ| अपने इस ब्लॉग के माध्यम से मैं आपको - आयात-निर्यात व्यवसाय (Export-Import Business), व्यापार कानून (Business Laws), बिज़नेस कैसे शुरु करना है?(How to start a business), Business digital marketing, व्यापारिक सहायक उपकरण (Business accessories), Offline Marketing, Business strategy, के बारें में बताऊँगा|| साथ ही साथ मैं आपको Business Motivation भी दूंगा| मेरा सबसे पसंदीदा टॉपिक है- “ग्राहक को कैसे संतुष्ट करें?-How to convince a buyer?" मेरी तमन्ना है की कोई भी बेरोज़गार न रहे!! मेरे पास जो कुछ भी ज्ञान है वह सब मैं आपको बता दूंगा परंतु उसको ग्रहण करना केवल आपके हाथों में है| मेरी ईश्वर से प्रार्थना है की आप सब मित्र खूब तरक्की करें! धन्यवाद !!