Fly Ash Bricks Business: केवल 3 लाख रुपये में शुरू करें ये बिजनेस, हर महीने होगी बंपर कमाई!

433

Fly ash bricks business plan in Hindi: आज मैं आपको Fly Ash Bricks Business के बारे में बताऊँगा| फ्लाई ऐश ब्रिक्स बिज़नेस को आप केवल 3 लाख रुपये में शुरू कर सकते हैं इस बिज़नेस से आपको हर महीने होगी बंपर कमाई|

यदि आप कोई नया बिजनेस शुरू (Start new business) करने के बारे में सोच रहे हैं तो आज आपको मैं ऐसा बिजनेस आइडिया (Business idea) के बारे में बताने जा रहा हूँ जो काफी फायदेमंद है|

किस काम के लिए सबसे पहले आपको खाली जगह की जरूरत होगी| यदि आपके पास थोड़ी बहुत खाली जगह है तो आप इस बिजनेस को करने के लिए एक बिजनेस एरिया तैयार कर सकते हैं, साथ ही इससे आपको जबरदस्त कमाई (huge income) होगी| 

इस पोस्ट के माध्यम से मैं आपको कोयले की राख से ईंट बनाने के बिजनेस (Fly Ash Bricks Business) के बारे में बताने जा रहा हूँ| 

फ्लाई ऐश ब्रिक्स (Fly Ash Bricks) को सामान्य भाषा में “सीमेंट की ईंट” भी कहा जाता है| इस बिजनेस को करने के लिए आप सरकार की मुद्रा योजना स्कीम की मदद भी ले सकते हैं| 

एसबीआई बैंक द्वारा मुद्रा लोन लेने के लिए यह पोस्ट पढ़ें: एसबीआई मुद्रा लोन कैसे लें

जैसा की आप सभी जानते हैं कि आजकल बिल्डिंग और घर बनाने के लिए परंपरागत तौर पर इस्तेमाल की जाने वाली लाल ईंट (Red Bricks) की जगह थर्मल प्लांट के कोयले की राख से बनी ईंट इस्तेमाल की जाने लगी है| 

आप प्रत्येक दिन 3000 से 9000 ईंट तक बना सकते हैं| अब तो! इन ईंटों का चलन कस्बों और गाँवों में भी शुरू हो गया है|  

Fly Ash Bricks Business

फ्लाई ऐश ब्रिक्स व्यापार निवेश (fly ash bricks business investment)

स्मॉल स्केल पर

इसके लिए कम से कम 1000 स्क्वायर फीट जमीन की जरूरत पड़ेगी। साथ ही आपको कम से कम 3000,00 रुपये का निवेश करना होगा। 

इस बिजनेस से आप हर महीने एक लाख रुपये तक की कमाई कर सकते हैं। इसमें करीब 5-7 लोगों की जरूरत होगी। इस तरह आप हर रोज करीब 2500 ईंटें तक बना सकते हैं।

यहाँ पर एक बात ध्यान रखने की है कि इस निवेश में कच्चे माल की कीमत को शामिल नहीं किया गया है, क्योंकि यह आपके प्रोडक्शन के हिसाब से कम या ज्यादा हो सकती है।

लार्ज स्केल पर

इस व्यवसाय के लिए 2500 स्क्वायर फुट जगह और कम से कम ₹10,000,00 का निवेश (fly ash brick plant setup cost) करना होगा|

महत्वपूर्ण बात यह है कि इस बिजनेस (Fly Ash Bricks Business) से आप हर महीने 3 लाख से लेकर ₹5000,00 तक की कमाई (fly ash bricks business profit) आसानी से कर सकते हैं| 

इस बिजनेस में इन्वेस्टमेंट का ज्यादातर हिस्सा ईट बनाने की मशीनरी में लगेगा| मशीनरी की मदद से ईट बनाने के लिए 10 से 15 लोगों की जरूरत पड़ती है| इसके बाद आप हर रोज कम से कम 50,000 हज़ार से 70,000 हज़ार तक ईंट बना सकते हैं|

मैंने इस इन्वेस्टमेंट में कच्चे माल की कीमत को शामिल नहीं किया है| यदि आप ऑटोमेटिक मशीनों के जरिए फ्लाई ऐश ईंट (Automatic Machines for Making Bricks) बनाते हैं तो आपकी लागत थोड़ी सी बढ़ जाएगी| 

परंतु इससे आपकी कमाई के मौके भी बढ़ जाएंगे! ऑटोमेटिक ईट बनाने की मशीन की कीमत 10 से 15 लाख रुपये होती है| इसमें कच्चे माल की मिलावट से लेकर ईंट बनाने तक लेकर सभी कुछ शामिल है|

इन मशीनों के जरिए 1 घंटे में 9000 ईंटें तक बनाई जा सकती हैं, यानी कि यह मशीन हर महीने 22 लाख तक ईंटें बना सकती है| 

फ्लाई ऐश ईंट के लाभ (fly ash brick benefits)

1- राख से बनी ईंटों (Fly Ash Bricks Business) में 35 फीसदी रेत, 55 फीसदी फ्लाई एश और 10 फीसदी सीमेंट की आवश्यकता होती है| इसके अलावा आप चाहें तो इसे बनाने के लिए 20 फीसदी रेत, 65 फीसदी फ्लाई एश, 10 फीसदी चूना और 5 फीसदी जिप्सम के मिक्चर को भी इस्तेमाल करके भी ईंट बना सकते हैं|

2- दरअसल परंपरागत तौर पर मिट्टी से बनने वाली ईंटों के मुकाबले राख (Fly Ash) से बनी ईंटें काफी सस्ती होती हैं|

3- फ्लाई एश की ईंट से बने मकान में सीमेंट का खर्च 20 फीसदी से 30 फीसदी तक कम हो जाता है| इसके अलावा फिनिशिंग भी दीवार के दोनों तरफ आती है, इससे प्‍लास्‍टर में भी सीमेंट की बचत होती है|

4- वहीं Fly ash brick में सूखी राख होने के कारण मकान में नमी भी नहीं आती है, जिससे इसकी मजबूती और उम्र भी बढ़ जाती है|

यह ईंट पानी कम सोखती है इसलिए घर की दीवार में रिसाव (Seepage) नहीं होता, जिससे पेंट ख़राब नहीं होता और वाल पुट्टी भी नहीं झड़ती|

5- परंपरागत मिट्टी की ईंटों की तुलना में फ्लाई ऐश ईंट बड़े पैमाने पर अप्रत्यक्ष लाभ प्रदान करती हैं|

6- ट्रांसपोर्टेशन के दौरान मिट्टी की ईंट की तुलना में फ्लाई-ऐश ईंट की क्षति कम होती है, इससे लागत भी घटती है|

7- यह ईंट ताप-रोधी होती है इसलिए इससे बने घर में गर्मी भी कम लगती है। 

पहाड़ी इलाकों में फ्लाई ऐश ब्रिक्स बिजनेस के फायदे (Advantages of Fly Ash Bricks Business in Hilly Areas)

उत्तराखंड और हिमांचल प्रदेश जैसे पहाड़ी राज्यों में मिट्टी की कमी के कारण ईंटों का उत्पादन (Production of Bricks) नहीं होता है!

इन प्रदेशों में ज्यादातर ईंटें हरियाणा, उत्तर प्रदेश और पंजाब जैसे राज्यों से मंगवाई जाती हैं|

दूर से मंगवाने के कारण ट्रांसपोर्टेशन का खर्च भी बढ़ जाता है| ऐसी स्थिति में! इन जगहों पर स्टोनडस्ट और सीमेंट से बनने वाली ईंटों का कारोबार फायदेमंद हो सकता है| पहाड़ी इलाकों में स्टोनडस्ट आसानी से मिल जाती है जिस वजह से कच्चे माल की लागत भी कम होगी| 

साथ ही यह भी अवश्य देखें:

एमएसएमई क्या है? तथा MSME full form

Export import business कैसे शुरू करें?

लघु उद्योग क्या होता है तथा इसमें कौन कौन से प्रोडक्ट आते हैं?

Best Business Ideas For Women

यदि आपको यह पोस्ट “Fly Ash Bricks Business (fly ash brick ka business kaise kare)” पसंद आई हो तो ब्लॉक को सब्सक्राइब अवश्य करें इसी प्रकार नए बिजनेस आईडिया के साथ अगली पोस्ट में मैं फिर मिलूंगा तब तक के लिए नमस्कार,

धन्यवाद

Previous articleBest Business Ideas For Women: घर बैठे महिलायें कर सकती हैं ये बेस्ट बिजनेस, होगी अच्छी कमाई
Next articleIRCTC Ticket Agent Business: IRCTC के साथ शुरू करें ये बिजनेस, हर महीने होगी मोटी कमाई!
प्यारे दोस्तों, मैं नवीन कुमार एक बिज़नेस ट्रैनर हूँ| अपने इस ब्लॉग के माध्यम से मैं आपको - आयात-निर्यात व्यवसाय (Export-Import Business), व्यापार कानून (Business Laws), बिज़नेस कैसे शुरु करना है?(How to start a business), Business digital marketing, व्यापारिक सहायक उपकरण (Business accessories), Offline Marketing, Business strategy, के बारें में बताऊँगा|| साथ ही साथ मैं आपको Business Motivation भी दूंगा| मेरा सबसे पसंदीदा टॉपिक है- “ग्राहक को कैसे संतुष्ट करें?-How to convince a buyer?" मेरी तमन्ना है की कोई भी बेरोज़गार न रहे!! मेरे पास जो कुछ भी ज्ञान है वह सब मैं आपको बता दूंगा परंतु उसको ग्रहण करना केवल आपके हाथों में है| मेरी ईश्वर से प्रार्थना है की आप सब मित्र खूब तरक्की करें! धन्यवाद !!