e-RUPI: ई-रुपी Digital Payment क्या है तथा कैसे काम करता है?

214

प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने हाल ही में cashless और contactless payment को बढ़ावा देने के उद्देश्य से e-rupi platform का उद्घाटन किया है| इस पोस्ट में हम जानेंगे कि e-rupi क्या है?, e-rupi कैसे काम करता है?, e-rupi से क्या फायदा मिलेगा?, इत्यादि के बारे में|

तो चलिए दोस्तों शुरू करते हैं आज का टॉपिक “e-Rupi Digital Payment क्या है और इसका उपयोग कैसे करें?”

e-Rupi क्या है तथा कैसे काम करता है? 

ई-रूपी एक digital payment voucher है| इसे आप PREPAID e-VOUCHER भी कह सकते हैं|

e-Rupi की शुरुआत 2 अगस्त 2021 को की गई है|

यह UPI (Unified Payments Interface) का ही एक advance version है, UPI 11 अप्रैल 2016 से चल रहा है| 

e-Rupi (Prepaid e voucher) तथा UPI (Unified Payments Interface) को NPCI (National Payments Corporation of India) द्वारा बनाया गया है| 

NPCI पूरे देश में होने वाले सभी प्रकार के payment transfer को कंट्रोल करता है| 

e-Rupi में यह e-VOUCHER किसी भी गवर्नमेंट स्कीम के लाभार्थी को उसके फोन पर QR (Quick Response) Code के रूप में मिलता है| 

यदि लाभार्थी के पास छोटा फोन (keypad phone) है तो यह SMS के रूप में जाएगा| 

कैसे काम करेगा?

यदि सरकार किसी को खेती के लिए बीज देना चाहती है तो सरकार के पास पहले केवल दो ही रास्ते थे, 

1-  या तो उसे बीज दे  2- या उसे पैसे दे| 

ऐसी स्थिति में बहुत घपले-घोटाले बाजी होती थी|

लाभार्थी तक या तो उसका पैसा नहीं पहुंचता था या लाभार्थी उसका सदुपयोग नहीं कर पाता था| 

इस प्रकार की समस्याओं को खत्म करने के मकसद से सरकार ने e-Rupi की व्यवस्था लागू की| 

इसमें सरकार द्वारा एक निश्चित राशि का ई-वाउचर दिया जाएगा|

यह ई वाउचर क्यूआर कोड या एसएमएस के रूप में होगा| 

जिस भी किसी योजना का फायदा लेने के लिए यह SMS या QR (Quick Response) Code मिला है, उसे उस सुविधा से जुड़े केंद्र के पास जाकर redeem करवाना होगा|  

चलिए! इसे और थोड़ा सा अच्छी तरह समझने के लिए एक उदाहरण की सहायता लेते हैं| 

उदाहरण:

मान लीजिए केंद्र सरकार ने किसानों को खेती में बीज खरीदने के लिए ₹1000 की राशि का ई-वाउचर जारी किया|

इस ई-वाउचर में उस किसान का नाम और उसके लिए दी गई रकम जैसी जानकारी छिपी होती है| 

सरकार कहती है कि आप किसी भी सरकारी बीज केंद्र या सरकार द्वारा अधिकृत बीज केंद्र पर जाइए और इस e-voucher के कोड को दिखाकर ₹1000 की राशि का बीज ले सकते हैं|

अब वह किसान सरकारी बीज केंद्र या जो भारत सरकार द्वारा अधिकृत बीज केंद्र हैं पर जाएगा|

इन केंद्रों पर एक काउंटर दिया होगा, जहां पर digital scanning की सुविधा होगी|

Scanner के जरिए इस QR Code को redeem किया जाएगा| किसान को अपनी पहचान सुनिश्चित करने के लिए आधार कार्ड दिखाना होगा| 

लाभार्थी की डिटेल सही होने पर उसे खेती के लिए  ₹1000 का बीज दे दिया जाएगा| QR Code में जमा रकम बीज केंद्र के खाते में आ जाएगी| इस कोड के द्वारा केवल वही चीज ली जा सकती है, जिसके लिए यह जारी किया गया है| 

ई-वाउचर से किसको फायदा मिलेगा?

इस प्लेटफार्म के माध्यम से सरकार जब भी किसी को कोई सुविधा देगी तो दी गई रकम सीधे लाभार्थी के पास ही पहुंचेगी और बिचौलियों का खेल खत्म हो जाएगा|

सरकार ने सीधे रकम लाभार्थी के खाते में इसलिए नहीं डाली क्योंकि सरकार यह सुनिश्चित करना चाहती थी की जिस काम के लिए रकम दी गई है वह केवल उसी काम में खर्च हो| 

यदि किसी को बीज के लिए पैसा दिया गया है तो उसका इस्तेमाल वह केवल अधिकृत बीज केंद्र पर ही कर सकता है|

इस वाउचर के द्वारा वह अन्य कोई भी चीज जैसे कि: दवाई, खाद, खेती के लिए जरूरी औजार इत्यादि में नहीं कर सकता| 

e-voucher कौन जारी करेगा?

ई-वाउचर बैंकों के द्वारा जारी किया जाएगा| अभी HDFC Bank, ICICI Bank, SBI Bank, AXIS Bank, Bank Of Baroda, Punjab National Bank, Kotak Mahindra Bank, IndusInd Bank जैसे कुछ बड़े बैंक को यह जिम्मेदारी दी गई है| 

धीरे-धीरे आने वाले समय में सभी bank ई-वाउचर जारी करने के लिए अधिकृत कर दिए जाएंगे| 

कोई ई-वाउचर कैसे बनवा सकता है?

E-voucher को कोई भी बनवा सकता है| इसके लिए बैंक जाना पड़ेगा| यदि आप चाहें तो अपने दोस्तों, कारीगरों इत्यादि के बर्थडे या किसी दूसरे मौके पर गिफ्ट देने के लिए किसी company  का ई-वाउचर भी बनवा सकते हैं|

इससे यह होता है कि आपने जिसे भी यही वाउचर दिया है वह उससे केवल गिफ्ट ही खरीद पाएगा| यदि इस ई वाउचर का इस्तेमाल इसकी वैलिडिटी खत्म होने से पहले नहीं किया जाता तो यह रकम सरकार या बनवाने वाले शख्स के पास वापस चली जाएगी,  जिसने यह ई वाउचर बनवाया था| 

e-Rupi के क्या फायदे हैं?

1- किसी भी प्रकार का रजिस्ट्रेशन करवाने की आवश्यकता नहीं है| 

2- इसके लिए किसी भी प्रकार के payment wallet जरूरत नहीं होगी| जैसे कि: Paytm, Phonepe,  Google pay, Bhim Pay, JioMoney, Amazon Pay इत्यादि

3- इसके लिए लाभार्थी को किसी भी तरह के Network या Internet की जरूरत नहीं है| नोट: जिसे पेमेंट लेनी है उसको  Network या Internet की जरूरत है|

4- कोई लिमिट नहीं है, कितने का भी ई-रूपी वाउचर बनवा सकते हैं| 

5- इसका इस्तेमाल किसी specific काम में ही किया जा सकता है|

उदाहरण: 

मान लीजिए, company अपने किसी कर्मचारी को business tour पर बाहर भेजती है|

अब! इस कर्मचारी को आने जाने के लिए, अच्छे होटल में रहने के लिए इत्यादि खर्चों के लिए एक राशि जारी की जाती है|

अब! यह कर्मचारी कंपनी से तो पूरा क्लेम ले लेता है परंतु स्वयं यह hotel की जगह lodge में रुक जाता है, transportation में अन्य तरह की बचत करके पैसा बचा लेता है|

कंपनी का तो यह पैसा वह कंपनी के लिए तो नहीं बचा रहा| कंपनी चाहती है कि उसने जिस काम के लिए पैसा दिया है, पैसा वही पर खर्च किया जाए|

ऐसी समस्या से निपटने के लिए, कंपनी जिस होटल में अपने कर्मचारी को रुकवाना चाहती है, उसके लिए ई-वाउचर जारी करेगी|

कंपनी के बारे में जानने के लिए यह पोस्ट पढ़ें: कंपनी क्या होती है?, भारत में कैसे खोले?

e-Rupi VOUCHER बनवाने की प्रक्रिया

चलिए दोस्तों, अब! ई-रुपी वाउचर को बनवाने की पूरी प्रक्रिया सरल शब्दों में समझ लेते हैं|

  • कंपनी द्वारा bank को coupon code (e-Rupi QR Code) बनाने के लिए रिक्वेस्ट की जाएगी|
  • Bank द्वारा NPCI को यह ई वाउचर बनाने के लिए रिक्वेस्ट की जाएगी| 
  • NPCI द्वारा चंद ही सेकंड में यह QR Code या SMS बना दिया जाएगा| 
  • National Payments Corporation of India द्वारा इस कोड की 3 कॉपियां जारी की जाएंगी| 

1- एक Code की कॉपी वह अपने पास रखेगा जिससे कि किसी विवाद की स्थिति में इसका मिलान किया जा सके, तथा इस रकम का इस्तेमाल ना किए जाने पर यह पुनः बनवाने वाले के खाते में वापस जा सके| 

2- बाकी दो कोड वह बैंक को दे देगा|

  • अब बैंक के पास दो कोड उपलब्ध हो गए हैं, इनमें से एक वह कंपनी को दे देगा|
  • दूसरा कोड उस होटल को दे देगा जिसको payment करने के लिए यह कोड बनवाया गया है| 

FAQs: e-RUPI

यदि कोई व्यक्ति तय समय में e-Rupi का इस्तेमाल नहीं करता तो क्या होगा?

जिस भी व्यक्ति या संस्था ने वह e-Rupi बनवाया होगा, पैसा वापस उसके अकाउंट में चला जाएगा|

e-Rupi इस्तेमाल करने के लिए क्या किसी प्रकार के Network की जरूरत पड़ेगी?

जिस व्यक्ति ने संस्थान को पैसा लेना है Network की जरूरत केवल उसको पड़ेगी|

क्या e-Rupi एक Cryptocurrency है?

जी नहीं, e-Rupi Cryptocurrency नहीं है| e-Rupi UPI payment systems पर आधारित है, जबकि Cryptocurrency blockchain पर आधारित है|

e-Rupi क्या है?

ई-रूपी एक digital payment voucher है| इसे PREPAID e-VOUCHER भी कह सकते हैं| यह UPI (Unified Payments Interface) का ही एक advance version है| e-Rupi contactless (संपर्क रहित), कैशलेस वाउचर-आधारित भुगतान का तरीका है| यह उपयोगकर्ताओं को card, digital payment app या internet banking excess के बिना payment voucher को भुनाने में मदद करता है।

e rupee की क्या चुनौतियां हैं?

सभी के पास मोबाइल ना होना, साक्षरता दर में कमी ई-रूपी के इस्तेमाल को मुश्किल बनाती हैं|

e-RUPI Digital payment को बनाने का क्या उद्देश्य है?

जिस काम के लिए पैसा दिया गया है पैसा उसी काम में खर्च हो तथा भ्रष्टाचार को खत्म करना e-RUPI Digital payment बनाने का मुख्य उद्देश्य है|

क्या bank फ्री में e-RUPI बनाएंगे?

जी नहीं, बैंक इसके लिए थोड़ा सा चार्ज लेगा|

साथ ही यह भी अवश्य देखें:

Customer base क्या होता है?

affiliate marketing क्या होती है?

Business environment क्या होता है?

Payment gateway procedure क्या है?

दोस्तों यदि आपको यह पोस्ट पसंद आई हो तो इसे शेयर अवश्य करें|

अगली ऐसी ही पोस्ट में, मैं फिर मिलूंगा तब तक के लिए नमस्कार 

धन्यवाद

Previous articleCustomer Base क्या होता है और यह आपके Business के लिए क्यों महत्वपूर्ण है?
Next articleGDP क्‍या है, इसके बारे में संपूर्ण जानकारी | Meaning of GDP in Hindi
प्यारे दोस्तों, मैं नवीन कुमार एक बिज़नेस ट्रैनर हूँ| अपने इस ब्लॉग के माध्यम से मैं आपको - आयात-निर्यात व्यवसाय (Export-Import Business), व्यापार कानून (Business Laws), बिज़नेस कैसे शुरु करना है?(How to start a business), Business digital marketing, व्यापारिक सहायक उपकरण (Business accessories), Offline Marketing, Business strategy, के बारें में बताऊँगा|| साथ ही साथ मैं आपको Business Motivation भी दूंगा| मेरा सबसे पसंदीदा टॉपिक है- “ग्राहक को कैसे संतुष्ट करें?-How to convince a buyer?" मेरी तमन्ना है की कोई भी बेरोज़गार न रहे!! मेरे पास जो कुछ भी ज्ञान है वह सब मैं आपको बता दूंगा परंतु उसको ग्रहण करना केवल आपके हाथों में है| मेरी ईश्वर से प्रार्थना है की आप सब मित्र खूब तरक्की करें! धन्यवाद !!