E Marketing क्या है? | अपने Business की Digital Publicity कैसे करें?

1149

दोस्तों इस पोस्ट में हम जानेंगे की e marketing तथा Business Digital Publicity क्या होती है?, हम अपने बिजनेस को बढ़ाने के लिए किस प्रकार की मार्केटिंग का फायदा ले सकते हैं?, ई मार्केटिंग करने से पहले किन बातों का ध्यान रखना है?  इत्यादि

तो चलिए दोस्तों शुरू करते हैं आज का टॉपिक “E Marketing क्या है? तथा अपने Business की Digital Publicity कैसे करें?”

दोस्तों किसी भी टॉपिक को शुरू करने से पहले उसके बारे में यह जानना आवश्यक होता है कि आखिर! यह क्या चीज है? 

E Marketing kya hai?

e marketing

सबसे पहले e marketing की फुल फॉर्म जान लेते हैं|

ई मार्केटिंग की फुल फॉर्म

E-Marketing full form: “electronic marketing”

ई-मार्केटिंग क्या क्या है? (What is E-marketing)

तो दोस्तों, e marketing शब्द सुनते क साथ ही आपके दिमाग में यह प्रश्न आना स्वाभाविक है की आखिर “ई मार्केटिंग क्या होती है?”

अब! जैसा कि इसके नाम से ही ज्ञात हो रहा है इलेक्ट्रॉनिक मार्केटिंग, यानी कि इलेक्ट्रॉनिक के माध्यम से marketing करने को e-marketing कहते हैं| दूसरे शब्दों में इसे हम digital publicity भी कह सकते हैं| 

ई मार्केटिंग के प्रकार (Types of e marketing)

चलिए दोस्तों! अब बात करते हैं की किन-किन तरीकों से e-marketing की जा सकती है?

1- Search engine marketing

इसके नाम से ही पता चल रहा है की इसमें, Search engine के द्वारा marketing करने के विषय म बात हो रही है|

यानी कि अगर कोई शख्स आपके business से जुड़ी चीजों को गूगल पर सर्च करें तो सबसे पहले आप की चीजें, गूगल के पहले पेज पर दिखाई दे|

इसके लिए आपके पास business website का होना बहुत जरूरी है| SEM (सर्च इंजन मार्केटिंग) दो तरह की होती है|

1- SEO (Search engine optimization)

2- Advertisement (विज्ञापन)

सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन पूरी तरह से फ्री होता है जबकि Ads (एडवरटाइजमेंट) के लिए आपको गूगल को कुछ पैसे देने पड़ते हैं|

पहले हम SEO (Search engine optimization) के बारे में जानते हैं|

Search engine optimization क्या होता है?

Website पर कंटेंट डालते समय business या product से जुड़े कुछ keywords को उस में ऐड किया जाता है| यह एक ऐसी प्रक्रिया होती है जिसके द्वारा गूगल को यह बताया जाता है कि यह कंटेंट किस प्रकार का है? और किस product को बेचने की बात हो रही है?

Keyword का सही से उपयोग करने पर, जब भी कोई व्यक्ति google पर आपके product से संबंधित कोई जानकारी लेने की कोशिश करेगा तो, आपकी website गूगल के फर्स्ट पेज पर दिखाई देगी|  

विज्ञापन के द्वारा अपनी वेबसाइट का प्रमोशन कैसे करते हैं?

Advertisement यानी कि विज्ञापन!

यदि आपने अपने business के लिए कोई वेबसाइट बनाई है और आपसे google search engine के माध्यम से ज्यादा से ज्यादा लोगों तक पहुंचाना चाहते हैं तो,  आप google ads का इस्तेमाल कर सकते हैं|

गूगल के विज्ञापनों के द्वारा आपकी वेबसाइट गूगल के search result में टॉप पर आ जाती है|

सर्चिंग के दौरान ऐसे किसी भी वेबसाइट के नाम के आगे Ad लिखा हुआ आता है|

आपने भी किसी प्रोडक्ट को गूगल पर सर्च करते समय ऐसी वेबसाइट अवश्य ही देखी होंगी!

इसका सीधा सा मतलब है कि गूगल आपसे, आपकी वेबसाइट के विज्ञापन के लिए कुछ पैसा लेता है और आपकी वेबसाइट को प्रमोट करता है| 

दरअसल, गूगल की कमाई का मुख्य स्रोत एडवर्टाइजमेंट ही है| आप गूगल पर जितने भी वेबसाइट में ऐड देखते हैं गूगल उन सबके लिए पैसा लेता है|

एडवर्टाइजमेंट दिखाने के लिए गूगल की मदद कैसे लें? 

इसके लिए आप Google Ads पर अपना अकाउंट बनाकर online भी Ads लगा सकते हैं| 

यदि आप गूगल के द्वारा कोई मदद लेना चाहते हैं तो इसके लिए, गूगल के टोल फ्री नंबर 18005728309 पर Monday से Friday तक, सुबह 9:00 बजे से शाम 6:00 बजे के बीच फोन करके ले सकते हैं| 

2- Email Marketing

e marketing की बात हो और ईमेल मार्केटिंग के बारे में बात ना हो! ऐसा तो हो ही नहीं सकता| email marketing के जरिए भी आप अपने business को बूस्ट दे सकते हैं|

मान लीजिए आपकी किसी website को google search engine रैंकिंग से बाहर कर दें|

ऐसी स्थिति में! आप नए ग्राहकों तक नहीं पहुंचेंगे साथ ही पुराने ग्राहक भी आप की पहुंच से दूर हो जाएंगे|

इसके लिए आपको अपनी वेबसाइट पर Onesignal Plugin जरूर इंस्टॉल करके रखना चाहिए| 

इससे आपके कस्टमर के साथ आपका पर्सनल रिलेशन बनता जाता है|

जब भी कोई onesignal के द्वारा आपकी वेबसाइट को सब्सक्राइब करता है, आपके पास उसकी ईमेल आईडी आ जाती है, इसके साथ ही जब भी आप कोई नई post अपनी website पर publish करते हैं, उन सभी सब्सक्राइबर्स के ब्राउज़र में इसका नोटिफिकेशन जाता है| 

इसके अलावा बहुत सारी ऐसी agency भी हैं जो, आप की पसंद के ग्राहकों तक ई-मेल के जरिए, आपकी website को पहुंचाने का काम करती हैं| 

इसके लिए वह बहुत थोड़ा सा ही amount charge करती हैं|  

कुछ चुनिंदा email promotion companies की वेबसाइट के नाम में आपको दे रहा हूं| इनमें Mailchimp.com, getresponse.com, Sendinblue.com आदि website email marketing की सुविधा देती हैं| 

यह वेबसाइट ₹1000 से ₹2000 तक फ्री ईमेल की सुविधा भी देती हैं|

इसके बाद यह कुछ फीस चार्ज करती हैं| लगभग 10,000 ईमेल का चार्ज ₹2500 से ₹6000 के बीच हो सकता है| 

3- एप्स मार्केटिंग (Apps Marketing)

Internet पर एप्स के माध्यम से किसी भी product को ग्राहक तक पहुंचाने को एप्स मार्केटिंग कहते हैं| यह डिजिटल मार्केटिंग करने का बहुत ही प्रभावशाली तरीका है| 

आज की जनरेशन बहुत बड़ी संख्या में मोबाइल फोन का इस्तेमाल करती है, इन्हें को मध्य नजर रखते हुए बड़ी-बड़ी कंपनियां अपनी वेबसाइट के छोटे-छोटे एप्स उपलब्ध करवा देती है जिनके द्वारा उनकी वेबसाइट को एक्सेस करना बहुत ही आसान हो जाता है|

उदाहरण के लिए:

Amazon app, Ola app, Netflix app, kindle app, YouTube app इत्यादि 

4- Display Advertising

फोटो या बैनर के जरिए अपने business का promotion करना display advertisement कहलाता है| इसे आप Banner Ad भी कह सकते हैं|

इसके लिए प्रोडक्ट की फोटो?, प्रोडक्ट के बारे में जरूरी जानकारी?, कैसे तथा कहाँ से खरीदें? तथा website का link आता है|

यदि वेबसाइट नहीं है तो आप इस बैनर पर, अपना एड्रेस, फोन नंबर, ईमेल आईडी, व्हाट्सएप नंबर आदि लिखवा सकते हैं| 

इस फोटो के लिए यदि आप फोटो एडिटिंग नहीं जानते तो किसी प्रोफेशनल की मदद लें| फोटो बहुत ही अच्छी क्वालिटी का होना चाहिए| कभी भी आप internet के माध्यम से किसी और के प्रोडक्ट की फोटो को कॉपी ना करें| वरना लेने के देने पड़ सकते हैं!

5- Photo e-marketing

आइए! समझते हैं की Photo की e-marketing में क्या भूमिका होती है?

कहते हैं “एक फोटो -1000 शब्दों के बराबर होती है” यह बात कहीं हद तक मुझे ठीक भी लगती है|

किसी भी business को आगे बढ़ाने में Image का महत्वपूर्ण रोल होता है|

किसी भी प्रकार की इमेज खराब होना बिजनेस को खराब कर देता है|  

एक इमेज वह होती है जिसमें फोटो होती है| एक image आपका character भी होती है| दोनों में से कोई सी भी इमेज खराब हो जाएगी तो आपका business खराब होना तय है| 

इसलिए “image” का खास ख्याल रखना है|

मान लीजिए, आपका  गद्दे का व्यवसाय है| आप अपने गद्दे की एक आकर्षक सी फोटो खींचे| उस पर एक अच्छी सी टैगलाइन जरूर दें| साथ में अपनी website,  WhatsApp number, इत्यादि डिटेल जरूर दें, जिससे कि उसे देखने वाला आपसे कांटेक्ट कर सके|

इसके लिए मैं आपको थोड़ा सा तरीका बता देता हूं|

इसके लिए आप photoshop software के द्वारा बहुत अच्छी photo editing कर सकते हैं| इसके अलावा यदि आपको थोड़ी सी आसान वेबसाइट पर काम करना है तो आप, crello.com या canva.com पर इसे आसानी से कर सकते हैं|

6- Text e-marketing 

चलिए इस बात को भी समझ लेते हैं की Text की e-marketing में क्या भूमिका होती है? 

किसी भी बिजनेस को आगे बढ़ाने के लिए टेक्स्ट सबसे अहम हिस्सा है|

एक आकर्षक तथा दमदार टेक्स्ट आपके बिजनेस को बहुत आगे तक ले जाने में सक्षम है|

टेक्स्ट को सोशल मीडिया पर शेयर कर के वहां से भी ग्राहक लाए जा सकते हैं| इसके लिए आप टेक्स्ट लिखते समय सिर्फ business से संबंधित जरूरी विषयों को ही लिखें|

बहुत ज्यादा बढ़ा टेक्स्ट पढ़ने में ज्यादातर लोग कतराते हैं| 

टेक्स्ट में एक स्लोगन भी अवश्य डाल दें, जिससे कि वह और भी आकर्षक लगे|

जैसे कि उदाहरण के लिए गद्दे (Mattress) की marketing के लिए आप लिख सकते हैं:

 “हम नींद नहीं चुराते बल्कि सुलाते हैं”

Slogan example

गद्दों पर भारी छूट!!

XYZ Mattress

जल्दी ऑर्डर करें

वेबसाइट: MattressStore.in

फोन करें: xxxxxxxxxx 

नोट: यह उदाहरण के लिए एक नमूना है| 

7- Video E-marketing

इस बिन्दु को भी समझना बहुत जरूरी है की Video E-marketing कैसे कर सकते हैं?

इसके लिए आप सबसे पहले you tube search engine का सहारा ले सकते हैं| यूट्यूब सेकंड पॉपुलर सर्च इंजन है| आजकल YouTube Shorts का जमाना है|

आप अपने प्रोडक्ट की छोटी-छोटी वीडियो बनाकर यूट्यूब पर अपलोड कर दें| 

निश्चित ही यहां से आपको ग्राहक मिलने की काफी संभावनाएं हैं| (मुझे भी काफी ग्राहक इसी के माध्यम से मिल जाते हैं)

इसके लिए आप अपनी वेबसाइट के नाम से, या अन्य किसी भी नाम से you tube channel बना सकते हैं|

अपने product को एक brand बनाने की कोशिश करें|

कोशिश करें कि वीडियो 2 मिनट के अंदर-अंदर की हो| 

कई ऐसी वेबसाइट भी है जहां से फ्री में वीडियो बनाई जा सकती हैं|

इसके लिए आप vimeocom, animoto.com, biteable.com इत्यादि की मदद ले सकते हैं|

वीडियो एडिटिंग के लिए आप, Filmora तथा Camtasia जैसे video editing software की मदद ले सकते हैं|

यह दोनों paid software हैं| आप ऑनलाइन सर्च करके free video editing software भी ढूंढ सकते हैं| 

यदि आप बहुत ज्यादा आकर्षक वीडियो बनाना चाहते हैं तो इसके लिए आप मेरी राय में किसी प्रफेशनल की मदद ले लें| 

8- Audio marketing

इसे भी समझना जरूरी है की आखिर! Audio ई मार्केटिंग कैसे करें? 

फोटो, टेक्स्ट, वीडियो के अलावा ऑडियो द्वारा भी मार्केटिंग की जा सकती है| आजकल podcast  को काफी अधिक पसंद किया जा रहा है| बहुत से ऐसे लोग भी होते हैं जो पढ़ने देखने के बजाय सुनना ज्यादा पसंद करते हैं|

बहुत सारे ऐसे म्यूजिक ऐप हैं जैसे कि: Wynk, ganna, amazon music, jio saavn इत्यादि के माध्यम से भी आप अपने प्रोडक्ट  का ऑडियो के द्वारा विज्ञापन करवा सकते हैं|

बस! इसके लिए आपको थोड़ा सा चार्ज देना होगा| 30 सेकंड के ऑडियो के विज्ञापन का खर्चा लगभग ₹20000 तक हो सकता है|

यदि आप इसकी कैलकुलेशन निकाले तो एक भी और तक आपके प्रोडक्ट के एडवर्टाइजमेंट के लिए ना के बराबर पैसा खर्च हो रहा होगा|

निश्चित ही आपके advertisement का तो खर्चा निकलेगा ही साथ में आपको प्रॉफिट भी अवश्य होगा!!

मेरी राय में आप इसके लिए किसी प्रोफेशनल की मदद अवश्य लें| 

9- Affiliate Marketing

यह अपने प्रोडक्ट हो प्रमोट करने का सबसे अच्छा तरीका हो सकता है| इसमें आपको लोगों को अपने प्रोडक्ट का प्रमोशन करने के लिए लुभाना होता है, बदले में आपको इन्हें कुछ तय comission देना होता है ताकी वे आपके प्रोडक्ट का प्रमोशन करें!

ज्यादा जानने के लिए यह पोस्ट पढ़ें: एफिलिएट मार्केटिंग से पैसे कैसे कमाए?

ई मार्केटिंग के फायदे (Benefits of e marketing)

E-Marketing के फायदे इस प्रकार हैं|

1- Web tracking capabilities के माध्यम से ग्राहक की आसानी से निगरानी की जा सकती है, इससे संभावित खरीदार (potential buyer) अधिक आसानी से मिल जाता है|

2- ई मार्केटिंग का उपयोग करके, कंटेंट को वायरल बनाया जा सकता है, इसके द्वारा वायरल मार्केटिंग में मदद करता है|

3- इंटरनेट अपने यूजर्स को 24 घंटे और”24/7” सेवा प्रदान करता है,  इससे आप दुनिया भर में ग्राहकों के साथ जुड़कर उनकी जरूरतों को पूरा कर सकते हैं|  इससे आपका ग्राहक किसी भी समय आपके प्रोडक्ट की खरीदारी कर सकता है|

4- देखा जाए तो, इंटरनेट पर अपने संदेश फैलाने की लागत ना के बराबर है| बहुत सारी सोशल मीडिया साइट जैसे  लिंकडइन, फेसबुक, ट्विटर, पिंटरेस्ट तथा गूगल प्लस आपको अपने business को स्वतंत्र रूप से विज्ञापन देने और बढ़ावा देने की अनुमति देते हैं|

5- आप ईमेल मार्केटिंग के माध्यम से अपने रजिस्टर्ड ग्राहकों को आसानी से और तुरंत अपने प्रोडक्ट  की नई सुविधाओं के बारे में अपडेट कर सकते हैं|

6- यदि आप कुछ सामान बेच रहे हैं, तो आपका ग्राहक अपना ईमेल खोलते ही विशेष छूट पर पर खरीदारी शुरू कर सकते हैं|

7- यदि किसी कंपनी के पास लॉ फर्म, ऑनलाइन बिज़नेस ट्रेनिंग, समाचार पत्र या ऑनलाइन पत्रिका जैसी सूचनाओं का व्यवसाय है, तो आप कंपनी कूरियर का उपयोग के बिना भी अपने उत्पाद सीधे ग्राहकों तक पहुंचा सकती है|

ई मार्केटिंग की विशेषताएं (Features of e marketing)

बड़े व्यवसाय हों या छोटे, ये सब विभिन्न विशेषताओं और कई लाभों के कारण ई-मार्केटिंग का उपयोग कर रहे हैं। इनमें कुछ महत्वपूर्ण विशेषताएं इस प्रकार हैं:

1- सस्ता (Cheaper)

ई-मार्केटिंग पारंपरिक मार्केटिंग से सस्ता है| यदि आप इसकी लागत की तुलना पारंपरिक मार्केटिंग से करें जैसे की: मीडिया विज्ञापन, अखबार के विज्ञापन, पैम्फ्लिट, exhibitions और होर्डिंग विज्ञापन से करते हैं, तो यह बहुत सस्ता, कुशल और आरामदायक है। आप बहुत थोड़े से संसाधनों के माध्यम से दर्शकों की एक विस्तृत श्रृंखला तक पहुँच सकते हैं।

2- वास्तविक निवेश पर वापसी (Return on actual investment)

छोटे व्यवसाय के मालिक अब इन्फ्यूजन सॉफ्टवेयर की मदद से टर्नओवर दर या ‘किसने क्या एक्शन लिया था?’ की जांच कर सकते हैं। यह कई चीजों का विश्लेषण करता है जैसे की: वीडियो के दृश्य, खोले गए ईमेल की संख्या और अफिलीएट लिंक पर कितने प्रति क्लिक आए! सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि इससे हमे पता चलता है कि ई-मार्केटिंग के परिणामस्वरूप व्यवसाय की कितनी बिक्री हुई है?

3- 24/7/365 उपलब्धता

इसके द्वारा आप दिन में 24 घंटे, सप्ताह में 7 दिन और साल के 365 दिन काम कर सकते हैं! इस बात से कोई फर्क नहीं पड़ता कि आप घर में बीमार हैं!, बारिश हो रही है! गर्मी पड़ रही है!, आप सो रहे हैं, या आकस्मिक बैठकों में भाग ले रहे हैं: परंतु इसका यह मातल कतई नहीं है की ई-मार्केटिंग बहुत आसान है!

4- अनुवर्ती विफलता (follow-up failure)

लघु व्यवसाय की सफलता के पीछे असफलता के क्या कारण हैं? इसके बारे में आप अपने व्यवसाय के आंकड़ों को सॉफ्टवेयर की मदद से विश्लेषण कर सकते हैं| इसकी स्वचालित मार्केटिंग प्रणाली के द्वारा आपको आपके व्यवसाय के बारे में आपको आपकी जरूरत के मुताबिक जानकारी मिल सकती है| जैसे की किन क्षेत्रों में सुधार करना है?, प्राइस कैसा होना चाहिए और किस उत्पाद को बंद करना है इत्यादि

ई मार्केटिंग के नुकसान (Disadvantages of e marketing)

1- यदि आप एक अच्छा ऑनलाइन विज्ञापन अभियान चाहते हैं तो आपको पैसे खर्च करने होंगे| आपको अपने विज्ञापन को मुख्य पृष्ठ पर लाने के लिए अपने प्रतियोगी से ज्यादा पैसे खर्च करने होंगे|

2- अपने कंटेंट को ऑनलाइन लाने के लिए वेबसाइट डिजाइन करवानी पड़ेगी, इस वेबसाइट के लिए सॉफ्टवेयर और हार्डवेयर का खर्चा लगेगा, Web hosting का खर्चा लगेगा, यदि आपको वेबसाइट के बारे में क ख ग भी नहीं पता तो यह महंगा सौदा हो सकता है| 

वेबसाइट के बारे में ज्यादा जानने के लिए यह पोस्ट पढ़े: Business के लिए website कैसे बनाये

3- लगातार ऑनलाइन मार्केटिंग करने वालों की संख्या बढ़ रही है, ऐसे में आपकी कंपनी को अधिकतम लोगों तक पहुंचने की आवश्यकता होगी| इसके लिए आपको सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन के एल्गोरिदम की भी थोड़ी सी जानकारी लेनी पड़ेगी|

4- बहुत से लोग उत्पाद खरीदते समय उत्पाद को छूकर देखना चाहते हैं, ऐसे ग्राहकों से आपको निराशा ही हाथ लगेगी|

5- आपको जरूरत के अनुसार तकनीकी ज्ञान लेना पड़ेगा|

ई-कॉमर्स वेबसाइट पर किन बातों का ध्यान रखें?

यदि आप अपने प्रोडक्ट को ई-कॉमर्स वेबसाइट के माध्यम से बेच रहे हैं तो आपको इन बातों का ध्यान अवश्य ही रखना चाहिए|

  1. E-commerce websites समय- समय sellers  की सहायता के लिए वेबीनार का आयोजन अवश्य करती हैं| आपको अधिक से अधिक सीखने के लिए इनमें हिस्सा जरूर लेना चाहिए|
  2. आपको अपने प्रोडक्ट की फोटो तथा उसकी पूरी सही डिटेल अवश्य ही सही देनी चाहिए| आप बिजनेस में सब चीज दोबारा बना सकते हो, केवल विश्वास दोबारा नहीं बनता| एक बार नाम गया तो फिर वापस नहीं आएगा| 
  3. कोशिश करें कि आप अपने प्रोडक्ट की उच्चतम क्वालिटी वाली श्रेणी को ही पकड़े| यानी कि आप अपने प्रोडक्ट की क्वालिटी हमेशा अच्छी रखें ताकि आपको ज्यादा से ज्यादा स्टार रेटिंग मिल सके| 
  4. आप amazon India के द्वारा अपना प्रोडक्ट बेच रहे हैं तो आप अपने प्रोडक्ट की advertisement भी कर सकते हैं| इससे आपका प्रोडक्ट अमेजॉन  के search में top पर रहता है, हालांकि इसके लिए सेलर को पैसे खर्च करने पड़ते हैं, परंतु यह सारा खर्चा निकल जाता है| 
  5. ज्यादा सेल होने पर amazon आपके  प्रोडक्ट को Best Seller का तमगा भी दे सकता है जिससे आपकी सेल और ज्यादा बढ़ जाएगी| साथ ही साथ बहुत अधिक प्रोडक्ट sell होने पर Amazon Choice  का तमगा भी आपको मिल सकता है, और आप यकीन मानिए कि एक बार यह तमगा (Medal, Title) आपको मिल गया तो आपकी सेल रॉकेट की रफतार से बढ़ जाएगी| 

नोट:  Marketing के लिए बहुत सारी कंपनियां सर्विस भी देती हैं| आपके प्रोडक्ट की online marketing  की जिम्मेदारी,  तथा आपकी सेल बढ़ाना उनकी जिम्मेदारी होती है|  इसके लिए यह कंपनियां आपकी जरूरत के मुताबिक चार्ज करती हैं| 

Amazon India बारे में जानने के लिए यह पोस्ट पढ़ें: बिना वेबसाईट बनाये कैसे ऑनलाइन बिज़नेस करें?

चेतावनी 

किसी भी माध्यम के द्वारा अपनी कंपनी का प्रचार करने से पहले आपको यह बात अवश्य जान लेनी चाहिए|

अपने ब्रांड का नाम रखने से पहले उसको रजिस्टर अवश्य करवा लें| 

साथ ही साथ यह भी ध्यान दें कि वह Brand किसी ने पहले से तो रजिस्टर्ड नहीं करा रखा है| 

यदि आप पहले से किसी और के Brand name का इस्तेमाल अपने लिए करते हैं तो आपको जेल तथा जुर्माना दोनों हो सकता है|

(₹50000 से लेकर ₹300000 तक का जुर्माना, 6 महीने से लेकर 3 साल तक की कैद या दोनों सजाएं एक साथ मिल सकती हैं) 

Brand name registration बहुत ही आसान है| 

इसके लिए आप पहले यह सर्च करने की वह नाम किसी और ने तो रजिस्टर्ड नहीं करवा रखा है|

इसे आप इस प्रकार चेक कर सकते हैं|

Step 1:

Ministry of corporate affairs की official website, mca.gov.in पर विजिट करें|

Step 2:

इसके बाद जो पेज खुलेगा उसमें ऊपर की तरफ MCA Services पर क्लिक करें| 

Step 3:

इसके बाद जो नया पेज खुलेगा उसमें लेफ्ट साइड में थोड़ा नीचे company services के ठीक नीचे check company name  पर क्लिक करना है| 

Step 4:

अब! फिर से एक नया पेज खुलेगा|  यहां पर company/LLP Names के ठीक सामने बने बॉक्स में जो Brand Name आप रखना चाहते हैं, उसे लिखें|

कंपनी तथा एलएलपी के बारे में जानने के लिए यह पोस्ट पढ़ें:

1- LLP: लिमिटेड लायबिलिटी पार्टनरशिप फर्म क्या होती है?

2- कंपनी क्या होती है?, भारत में कैसे खोले? तथा कंपनी तथा साझेदारी में क्या अंतर होता है?

मान लीजिए, आप Mattress Store के नाम से अपना व्यवसाय शुरू करना चाहते हैं तो बॉक्स में Mattress Store लिखें|  

इसके बाद आप Search पर क्लिक करें|

Mattress Store के नाम से कोई कंपनी रजिस्टर है या नहीं,  यह जानकारी उसी पेज पर नीचे की तरफ आ जाएगी|

यदि यह नाम पहले से ही रजिस्टर्ड है तो आप इस ब्रैंड नेम को ना रखें| 

अगर इस नाम से कोई कंपनी रजिस्टर नहीं है तो (company/LLP name does not exists) लिखा आएगा|

यदि आप अपने प्रोडक्ट के लिए नाम रजिस्टर्ड करना चाहते हैं तो उसके ऊपर भी मैंने एक पोस्ट लिखी है| 

इसमें मैंने अपने व्यक्तिगत अनुभव को लिखा है| काफी अच्छी पोस्ट है, आप उसे भी अवश्य पढ़ें|

उस पोस्ट को पढ़ने के लिए इस लिंक पर क्लिक करें: ट्रेडमार्क रजिस्ट्रेशन कैसे होता है तथा कितनी फीस लगती है?

COVID 19 के दौरान ऑनलाइन मार्केटिंग का क्या विकास हुआ (Online marketing development during COVID 19)

ई मार्केटिंग के चैप्टर में आपको इसके भविष्य के बारे में भी अवश्य जानना चाहिए और भविष्य को समझने के लिए भूतकाल को जानना बहुत आवश्यक है|  तो आइए  कोविड-19 के दौरान e-marketing या Online marketing का क्या विकास हुआ है? इसके बारे में भी जान लेते हैं| 

लोगों ने कभी ऐसी महामारी के बारे में सोचा भी नहीं था| जब सब लोग अपने घरों में कैद हो गए उस वक्त  सबको अपने घर पर बैठे हुए सुविधाएं चाहिए थी|  

इस सबके बीच ऑनलाइन मार्केटिंग का ऐसा विकास हुआ जितना पिछले 20 वर्षों में भी नहीं हुआ था| इसके लिए मैं कुछ उदाहरण आपको दे रहा हूं| 

Online Study

कोई भी माता-पिता अपने बच्चों को स्कूल भेजने को तैयार नहीं है,  ऐसे में  उनकी पढ़ाई को लेकर बहुत सारे ऑनलाइन प्लेटफॉर्म सामने आए, जैसे की: byjus.com

Food delivery

लोग बाहर नहीं जा सकते थे पर उनके चटोरपने नहीं छूट रहे थे, इसी का फायदा फूड कंपनियों ने उठाया, e marketing के जरिए उन्होंने अपने business को लोगों तक पहुंचाया| लोगों ने भी इनका भरपूर फायदा उठाया| जैसे कि: Zomato

Online Medicine & consultancy 

एक तरफ जहां ईश्वर का दूसरा रूप “डॉक्टर” काफी व्यस्त थे| उस समय ऑनलाइन मेडिसिन तथा कंसल्टेंसी का बिजनेस परवान चढ़ा| 

लोग डॉक्टर तथा medical स्टोर पर जाकर रिस्क नहीं लेना चाहते थे, इसलिए उन्होंने ऑनलाइन मेडिसिन तथा कंसल्टेंसी का सहारा लिया साथ ही इन व्यवसायों की Digital marketing भी एकाएक तेज हो गई| आप youtube वीडियो देख रहे हो, कोई blog  पढ़ रहे हो, कोई podcast  सुन रहे हो, इनके एडवर्टाइजमेंट आना एकदम था|

उस दौरान मैंने यहां तक देखा कि Amazon india जैसी वेबसाइट भी Oxygen concentrator, oxygen cylinder अपनी वेबसाइट पर बेच रही थी|

साथ ही साथ vitamin c तथा Health Drink कि सेल में तो मानो जैसे बाढ़ आ गई हो!

OTT Platform

लोग अपने घर में पड़े-पड़े बोर हो गए थे| मनोरंजन के लिए वह इंटरनेट पर साधन खोजने लगे| किस बात का  भरपूर फायदा OTT Platform  ने उठाया| 

इंटरनेट की खपत बढ़ी| यहां तक कि बड़े बड़े सितारे भी अपनी फिल्में ओटीटी प्लेटफॉर्म पर रिलीज करने लगे|

ऐसे बहुत सारे एग्जांपल में आपको दे सकता हूं|  उम्मीद करता हूं आप इन थोड़े से एग्जांपल के  माध्यम से समझ गए होगे कि e marketing का क्या भविष्य है?, डिजिटल मार्केटिंग का बिजनेस में क्या महत्व है? तथा COVID 19 के दौरान ऑनलाइन मार्केटिंग का क्या विकास हुआ? 

FAQs: E Marketing

COVID 19 के दौरान डिजिटल मार्केटिंग की क्या भूमिका रही?

COVID 19 के दौरान डिजिटल मार्केटिंग बहुत तेजी से बढ़ी है| इसका बात का अंदाजा आप खुद लगा लीजिए, internet इस्तेमाल बहुत तेजी से बढ़ा है| सब बच्चों की ऑनलाइन क्लासेस चल रही है, तरह-तरह के प्लेटफार्म बच्चों को ई एजुकेशन मुहैया करवा रहे हैं, लोग घर से बाहर नहीं निकल सकते इसलिए अपने घर से ही grocery बुक करवा रहे हैं| यहां तक की सिनेमाघर बंद होने के कारण OTT प्लेटफार्म की बल्ले-बल्ले हो गई है!

COVID 19 के दौरान डिजिटल मार्केटिंग के लाभ

डिजिटल मार्केटिंग का बिजनेस कोविड-19 के दौरान अनलिमिटेड रूप से बड़ा है| इसमें ऑनलाइन टीचिंग, OTT (over-the-top) प्लेटफॉर्म, news channels, Food delivery, Share market, यहां तक की Online medicine, Online health insurance तथा Online Doctor Consultation में भी जबरदस्त लाभ हुआ है|

Traditional marketing तथा e marketing (online marketing) में क्या different है?

ई मार्केटिंग ट्रेडीशनल मार्केटिंग के मुकाबले सस्ती पड़ती है| बहुत जल्दी बहुत लोगों तक पहुंच बनाती है| इसके द्वारा आप अपने बिजनेस को इंटरनेशनल लेवल तक आसानी से पहुंचा सकते हैं|

अगर आप घर बैठे ऑनलाइन मार्केटिंग करते हैं तो क्या बिल्डिंग कमर्शियल हो जाएगी?

यदि आप अपने घर से किसी प्रोडक्ट की डिलीवरी देते हैं या ऐसी कोई फिजिकल एक्टिविटी करते हैं जो आपके घर या बिल्डिंग से हो रही है तब आपकी बिल्डिंग कमर्शियल मानी जाएगी|

साथ ही यह भी अवश्य देखें:

ऑनलाइन पैसे कमाने के तरीके

सबसे ज्यादा कमाई वाला बिजनेस

बिना वेबसाईट बनाये कैसे ऑनलाइन बिज़नेस करें?

फ्री में Business का Online promotion कैसे करें?

आपने क्या सीखा 

दोस्तों, इस  पोस्ट के माध्यम से आपने सीखा कि e marketing क्या है?, emarketing के तरीके, e-marketing में किन बातों का ध्यान रखें?, SEM (Search engine marketing) क्या है?, Business के लिए content कैसे लिखें? इत्यादि|

दोस्तों आपको पता है कि मैं नवीन कुमार आपको businesslok.com पर Business से संबंधित सभी विषयों की जानकारी उपलब्ध करवाता हूं| 

इसीलिए मैंने इस वेबसाइट के कुछ स्लोगन भी रखें हैं,

जैसे की: “Businesslok: बिजनेस की सारी जानकारी” “Business Solutions By Naveen Kumar

यदि आपको मेरे द्वारा दी गई जानकारी पसंद आई हो तो कृपया इस पोस्ट को अधिक से अधिक मात्रा में शेयर अवश्य करें|

इसी प्रकार बिजनेस से संबंधित एक नई पोस्ट में, मै आपको फिर मिलूंगा तब तक के लिए नमस्कार 

धन्यवाद

Previous articleOnline Promotion: फ्री में Business का ऑनलाइन प्रमोशन कैसे करें?
Next articleMSME UPDATE: दोबारा कारोबार शुरु करने में एमएसएमई का साथ देगी Amazon
प्यारे दोस्तों, मैं नवीन कुमार एक बिज़नेस ट्रैनर हूँ| अपने इस ब्लॉग के माध्यम से मैं आपको - आयात-निर्यात व्यवसाय (Export-Import Business), व्यापार कानून (Business Laws), बिज़नेस कैसे शुरु करना है?(How to start a business), Business digital marketing, व्यापारिक सहायक उपकरण (Business accessories), Offline Marketing, Business strategy, के बारें में बताऊँगा|| साथ ही साथ मैं आपको Business Motivation भी दूंगा| मेरा सबसे पसंदीदा टॉपिक है- “ग्राहक को कैसे संतुष्ट करें?-How to convince a buyer?" मेरी तमन्ना है की कोई भी बेरोज़गार न रहे!! मेरे पास जो कुछ भी ज्ञान है वह सब मैं आपको बता दूंगा परंतु उसको ग्रहण करना केवल आपके हाथों में है| मेरी ईश्वर से प्रार्थना है की आप सब मित्र खूब तरक्की करें! धन्यवाद !!