Business loan कैसे मिलेगा? | बिजनेस लोन के लिए डॉक्यूमेंट, योग्यता एवं शर्तें

1350

Business loan in Hindi: यदि आप नया बिजनेस शुरू करने के लिए लोन लेने के बारे में जानना चाहते हैं तो यह पोस्ट आपके लिए ही है! कारोबार शुरू करने के लिए पहले के मुकाबले, अब बिजनेस के लिए लोन लेना आसान हो गया है! कई बैंक व्यापार ऋण (Business Loan) मुहैया करा रहै हैं!

साथ ही बैंकों ने अब Business Loan की प्रक्रिया को भी काफी आसान कर दिया है!

देश में छोटे उद्यमों (MSMEs) को बढ़ावा देने के मकसद से सरकार ने कई तरह की लोन स्कीम शुरू कर दी हैं|

जैसे की प्रधानमंत्री मुद्रा योजना| इसके अलावा कई दूसरी स्कीम भी हैं, जिनके द्वारा आप छोटी रकम से लेकर बड़े लोन तक आसानी से ले सकते हैं|

इस समय केंद्र और राज्य सरकार की योजनाओं के हिसाब से आपको अपने कारोबार के लिए 50 हजार रुपए से लेकर 10,00000 रुपए तक का लोन ले मिल सकता है|

विषय सूची | Page index
 [hide]

बिजनेस लोन क्या होता है?

कारोबार की जरूरतों (Business plan) को पूरा करने के लिए लिया जाने वाला लोन, व्यापार ऋण (Business Loan) कहलाता है| यदि आप भी किसी बैंक से व्यापार ऋण (Business Loan) लेना चाहते हैं तो, आपको उसका पूरा प्रोसेस पता होना चाहिए| 

1. अपने बिज़नेस का विस्तृत बिजनेस प्लान बनाएं (Detailed business plan)

2. अपने क्रेडिट स्कोर (CIBIL) के बारे में पता करें|

3. इसके बाद यह तय करें कि आपको कितना लोन चाहिए? 

4. जिस बैंक से आप कर्ज लेना चाहते हैं, उस बैंक को अपना बिजनेस प्लान बताएँ| 

आपके बिजनेस प्लान को देखकर ही कर्ज देने वाला बैंक, आपको लोन देने का फैसला करता हैं| यदि बैंक को लगता है कि आपका बिजनेस से इतना मुनाफा हो जाएगा की आप अपने खर्च पूरे करने के बाद तय अवधि में बैंक का लोन वापस चुका देंगे, तभी बैंक व्यापार ऋण (Business Loan) मंजूर करता है|

Business Loan के लिए कौन आवेदन कर सकता है?

निम्नलिखित व्यक्ति व संस्थाएं व्यापार ऋण (Business Loan) प्राप्त कर सकते हैं|

खुद का कारोबार कर रहा व्यक्ति

स्टार्टअप {स्टार्टअप के बारे में अधिक जानने के लिए यह पोस्ट पढ़ें: स्टार्टअप क्या होता है?)

उद्यमी या कारोबारी 

पार्टनरशिप फर्म

प्राइवेट लिमिटेड कंपनी

पब्लिक लिमिटेड कंपनी 

MSME (Micro, Small and Medium Enterprises)

खुदरा विक्रेता, कारीगर, व्यापारी और निर्माता 

सोल प्रोप्राइटरशिप फर्म, लिमिटेड लाइबिलिटी पार्टनरशिप (LLP), पार्टनरशिप फर्म  

सर्विस सेक्टर या मेन्यूफैक्चरिंग बिज़नेस में काम करने वाली संस्थाएं

NGO, को-ऑपरेटिव फर्म तथा ट्रस्ट

बिजनेस लोन लेने के क्या फायदे हैं?

1. मार्किट में cash flo बढ़ता है|

2. बिजनेस की जरूरतों को पूरा करने के लिए आर्थिक मदद मिलती है|

3. लंबी और छोटी दोनों अवधि के लिए पैसों की जरूरत पूरी होती है|

अगर आप भी अपना काम करने या कोई प्लांट लगाने के बारे में सोच रहे हैं तो, आप व्यापार ऋण (business loan) के लिए आवेदन कर सकते हैं| 

यदि आप पहले से ही कोई कारोबार कर रहे हैं और उसे बढ़ाने के लिए आपको पैसों की जरूरत है या उससे जुड़ी जरूरतें पूरी करने के लिए धन की आवश्यकता है तो भी, आप व्यापार ऋण (बिजनेस लोन) लोन ले सकते हैं|

बिज़नेस लोन की प्रमुख विशेषताएं क्या हैं?  

1- ब्याज दर: अलग-अलग schemes के अंतर्गत अलग ब्याज दर होता है|

2- लोन की प्रकृति: Long term loan और short term loan, secured loan और unsecured loan, working capital 

3- न्यूनतम लोन राशि: कोई तय लिमिट नहीं है

4- अधिकतम लोन राशि: 1 करोड़ रु तक (collateral free loan), जो की बिज़नेस आवश्यकताओं के अनुसार बढ़ सकता है

5- भुगतान अवधि: एक साल से 5 साल तक

योग्यता एवं शर्तें: नए बिज़नेस के लिए लोन/वेतनभोगी आवेदक

1- आयु: मिनिमम 18 वर्ष और अधिकतम 65 वर्ष

2- कारोबार कम से कम 2 साल पुराना होना चाहिए

3- बिना किसी आपराधिक रिकॉर्ड के भारतीय नागरिक हो

4- पिछला कोई लोन डिफ़ॉल्ट का रिकॉर्ड ना हो 

5- कारोबार का सालाना टर्नओवर 10 लाख तक का होना चाहिए

नौकरीपेशा (salaried person) आवेदक को आवेदक और सह-आवेदक या पार्टनर्स के केवाईसी डॉक्युमेंट्स के साथ लोन आवेदन के समय निम्नलिखित दस्तावेज प्रदान करने होंगे

1- पिछली 6 महीने की सैलरी स्लिप

2- मिनिमम मंथली इनकम: बैंक विवेक के अनुसार

3- पिछले एक साल की ITR (Income Tax Return): पिछले साल भरी गई ITR कम से कम 2.5 लाख की होनी चाहिए

4- ऑफिस का आइडेंटिटी कार्ड

5- वर्तमान कम्पनी का अपॉइंटमेंट और ऑफर लेटर

बिजनेस लोन ऑनलाइन आवेदक के लिए योग्यता एवं शर्तें

1- आयु: कम से कम 21 वर्ष और अधिकतम 65 वर्ष

2- कम से कम दो साल पुराना बिज़नेस होना चाहिए

3- न्यूनतम वार्षिक टर्नओवर: लोन देने वाली संस्थान/बैंक पर निर्भर करता है

4- बिना किसी आपराधिक रिकॉर्ड के भारतीय नागरिक होना चाहिए

5- पहले / वर्तमान समय में कोई लोन डिफ़ॉल्ट का रिकॉर्ड नहीं होना चाहिए  

नौकरीपेशा (salaried person)  आवेदक को आवेदक और सह-आवेदक या पार्टनर्स के केवाईसी डॉक्युमेंट्स के साथ लोन आवेदन के समय निम्नलिखित दस्तावेज प्रदान करने होंगे

1- पिछले एक साल का बैंक स्टेटमेंट

2- पिछले एक वर्ष का ITR (Income Tax Return), सेल्स टैक्स स्टेटमेंट और जीएसटी रिटर्न 

3- लास्ट 1-वर्ष P & L स्टेटमेंट तथा CA (chartered accountant) के द्वारा ऑडिट किए जाने वाले सभी दस्तावेज़

लाइसेंस, रजिस्ट्रेशन और अप्रूवल्स की कॉपी

बिज़नेस लोन किन कारणों से प्रभावित हो सकता है?

1- आयु: 18 वर्ष से कम या 65 वर्ष से अधिक होने पर

2- बिज़नेस की प्रकृति:, व्यापार, केवल सेवाओं और विनिर्माण क्षेत्रों में लगे उद्यम

3- बिज़नेस प्लान में त्रुटि: यदि बिजनेस प्लान की विस्तृत जानकारी ना दी गई हो (इसके बिना लोन देने वाली संस्थान बिज़नेस में लाभ का ठीक से आँकलन नहीं कर सकती) 

4- न्यूनतम वार्षिक टर्नओवर: यह लोन संस्थान पर निर्भर करता है

5- बिज़नेस का कार्यकाल: न्यूनतम 2 वर्ष

6- पिछला फाइनेंशियल रिकार्ड: स्थिर और अच्छी फाइनेंशियल हिस्ट्री

7- इनकम स्रोत: सभी प्रकार के स्रोत

8- CIBIL Score: 700 से नीचे होने पर- सिबिल स्कोर के बारे में जानने के लिए पढ़ें: CIBIL Score क्या होता है?

9- लोन डिफॉल्ट्स: यदि कोई पिछला लोन डिफॉल्ट हो तो

10- मालिकाना हक: आवेदनकर्ता के पास- कार्यालय/घर/दुकान का स्वामित्व होना चाहिए

व्यापार ऋण का उपयोग किन चीजों में किया जा सकता है?

आप निम्नलिखित आवश्यकताओं के पूरा करने के लिए व्यापार ऋण (बिजनेस लोन)  का उपयोग कर सकते हो:

1- अपने कारोबार का स्थान बदलने या कारोबार के विस्तार के लिए

2- कैश फ्लो में वृद्धि करने के लिए 

3- अपने रोज़मर्रा की आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए/वर्किंग कैपिटल के लिए

4- बिज़नेस करने के लिए भूमि या स्थान खरीदने के लिए

5- इक्विपमेंट / मशीनरी / कच्चा माल (raw material) खरीदने के लिए

6- इन्वेंट्री स्टॉक करने के लिए

7- किराया / कर्मचारियों के प्रशिक्षण / कर्मचारियों के वेतन आदि के लिए

8- टेक्नोलॉजी अपग्रेड या ऑपरेशन स्केल-अप के लिए

9- टेक्नोलॉजी सेटअप या नया प्रोडक्ट लेने के लिए

10- कार्यालय परिसर के नवीनीकरण करने के लिए 

11- निर्यात का ऑर्डर पूरा करने के लिए 

बिजनेस लोन कहाँ से मिलेगा?

यदि आप अपना कोई बिजनेस करना चाहते हैं?  या अपने छोटे बिजनेस को बड़ा करना चाहते हैं?, तो इसके लिए आपको पैसों की जरूरत अवश्य होगी!

अब! इस पैसे का इंतजाम आप कहाँ से कर सकते हैं?, मैं इसकी जानकारी दे रहा हूं| 

यदि आपको अधिक धन की जरूरत है तो bank  और non-banking finance companies (NBFC) की मदद ले सकते हैं|

NBFC और Bank छोटे कारोबारियों (SMEs) को कई प्रकार के लोन की सुविधा देती है| कुछ business loan इस प्रकार से है|

PMMY: प्रधानमंत्री मुद्रा योजना लोन

Mudra loan 50 हजार से कम का भी मिल सकता है तथा 10 लाख रुपए तक मिल सकता है| 

इसमें तीन तरह की लोन स्कीम है| इन्हें तीन भागों में बांटा गया है| इन्हें मानव अवस्था के आधार पर बनाया गया है| जैसे पहले बच्चा पैदा होता है, फिर वह किशोर बनता है तथा वह जवान हो जाता है| 

1- शिशु स्कीम: “इस स्कीम के तहत 50 हजार का लोन दिया जाता है|” 

2- किशोर स्कीम: “इस स्कीम के तहत ₹50,000 से ₹5,000,00 तक का लोन दिया जाता है|” 

3- तरुण स्कीम: “ इस स्कीम के तहत 5 लाख से 10 लाख तक का लोन दिया जाता है|” 

मुद्रा लोन के लिए भारत के किसी भी बैंक में आवेदन किया जा सकता है| 

SBI mudra loan ले बारे में जानने के लिए यह पोस्ट पढ़ें: एसबीआई मुद्रा लोन कैसे लें

मुद्रा लोन के लिए किन आवश्यकता को पूरा करना पड़ेगा?

आपका बिजनेस प्रोजेक्ट बहुत ही उम्दा होना चाहिए| जिससे कि बैंक को यह लगे कि इस बिज़नेस में कितना फायदा होगा कि उसको उसका कर्जा ब्याज समेत वापस मिल जाएगा|

टर्म लोन: “मुद्रा लोन के तहत आप मशीन खरीदने, दुकान बनाने,  दुकान के लिए कच्चा माल खरीदने के लिए, जगह, फर्नीचर इत्यादि के लिए आपको लोन मिलेगा| यानी कि टर्म लोन में वह चीजें आती हैं, जो स्थायी संपत्तियाँ (fixed assets) हैं|” 

इस लोन को चुकाने के लिए अधिकतम 5 से 7 वर्ष का समय मिलता है| 

वर्किंग कैपिटल: “लोन में आपसे सैलरी देने के लिए, कच्चा माल खरीदने के लिए, बिजली का बिल देने के लिए, अन्य जरूरी खर्चों को पूरा करने के लिए लोन मिलता है|”

इस प्रकार का लोन आपको साल दर साल मिलता रहता| पहले आप को 1 वर्ष के लिए दिया| यदि आपका बैंक लोन की किस्त समय पर चुका रहे हैं तो इसको बढ़ाया भी जा सकता है|

STANDUP INDIA: स्टैंड अप इंडिया लोन स्कीम 

  • सेंट्रल गवर्नमेंट द्वारा स्टैंड अप इंडिया स्कीम के तहत अनुसूचित जनजाति, अनुसूचित जाति, पिछड़ा वर्ग और सभी वर्ग की महिलाओं को business के लिए 10 लाख  रुपए से लेकर 1 करोड़  रुपए तक का business loan दिया जाता है| 
  • यह loan  पुराने बिजनेस को आगे बढ़ाने के लिए या नया बिजनेस शुरू करने के लिए दिया जाता है|
  • इस loan  पर base rate  के साथ 3%  की वार्षिक ब्याज लगती है|
  • यह loan 7 साल तक के लिए मिलता है|
  • standumitra.in इसकी ऑफिशल वेबसाइट है| ज्यादा जानकारी के लिए आप यहां पर विजिट कर सकते हैं| 

बैंक ऑफ बड़ौदा लोन स्कीम

  • बैंक ऑफ बड़ौदा ने UGRO Capital  के साथ मिलकर हाल ही में SMEs  को सस्ती दर पर loan  देने के लिए “ प्रथम”  नाम से एक योजना शुरू की है|
  •  इस योजना के तहत SMEs  को 50 लाख रुपए से लेकर 2.5 करोड़ रुपए तक का लोन मुहैया कराया जाएगा| 
  • लोन चुकाने की अधिकतम सीमा अवधि 10 साल है तथा शुरुआती ब्याज दर 8% है|

नोट: इसके अलावा की और भी बैंक तथा  NBFC (Non Banking Financial Companies) हैं, जैसे की: Ziploan, Mahindra finance, Bajaj finserv, Tata capital आदि भी छोटे तथा मझोले व्यापारियों को अलग-अलग ब्याज दर पर business loan मुहैया करवाती हैं|

नोट: किसी भी जगह से लोन लेते समय,  लोन लेने के लिए जरूरी जानकारी तथा लोन चुकाने  की पूरी जानकारी अवश्य लेनी चाहिए| 

Business loan के लिए क्या डॉक्यूमेंट चाहिए?

1- PAN CARD

पैन कार्ड BUSINESS LOAN  के लिए सबसे जरूरी डाक्यूमेंट्स में से एक है|

2- पहचान प्रमाण (Identity Proof)

निम्न में से कोई एक:

Aadhaar Card
Passport
Voter’s ID Card
PAN Card
Driving License

3- ITR (income tax return)

यह इनकम प्रूफ के तौर पर कार्य करता है| नवीनतम (latest) ITR चाहिए, यह सीए प्रमाणित/लेखापरीक्षित होनी चाहिए तथा पिछले 2 वर्षों के लिए आय, बैलेंस शीट और लाभ और हानि खाते की गणना के साथ होनी चाहिए|

4- ADDRESS PROOF

जिस जगह पर BUSINESS करना चाहते हैं या पहले से कर रहे हैं, वहां का एड्रेस प्रूफ देना जरूरी है| यदि आप अपने घर से ही बिजनेस कर रहे हैं तो आप अपने घर का पता दे सकते हैं|

निम्न में से कोई एक:

Aadhaar Card

Passport

Voter’s ID Card

Driving License

5- BANK STATEMENT

पिछले 6 महीनों का बैंक स्टेटमेंट

आप कितना कमाते हैं?, आप कितना खर्च करते हैं?, आपके पहले से कोई लोन चल रही है तो उसकी कब और कितनी किस्त जाती है?, इन सभी बातों की जानकारी bank statement से मिल जाती है| 

एक अच्छा credit balance होने से loan देने वाला बैंक तथा NBFC यह जान लेते हैं कि लोन लेने वाला व्यक्ति लोन चुका पाने में सक्षम है या नहीं| इसके बारे में अधिक जानने के लिए यह पोस्ट पढ़े: CIBIL Score क्या होता है?

6- Proof of continuation (निरंतरता का प्रमाण)

लोन लेने के समय तक आपको इस बात का प्रूफ देना पड़ेगा की आपका बिजनेस बंद नहीं है|

इसके लिए आप यह डॉक्युमेंट्स दे सकते हैं|

(ITR/Establishment/Trade license/Sales Tax Certificate)

7- आपके द्वारा धन निवेश (Money investment by you)

आप अपने बिजनेस में कितना धन लगाएंगे इस बात का प्रमाण भी आपको देना है|

8- अन्य अनिवार्य दस्तावेज (Other Mandatory Documents)
Sole Prop. Declaration Or Certified Copy of Partnership Deed, Certified true copy of Memorandum of association & Articles of Association (certified by Director) & Board resolution (Original)

9- KYC (Know your customer) documents

10- Business project report

इस loan को लेने के लिए यह शर्त होती है कि आपके पास अपने business से जुड़े documents अवश्य होने चाहिए|

“इसमें आपको इस प्रकार के सवालों के जवाब देने हैं की आप कहाँ से सामान खरीदेंगे?, क्या प्रोडक्ट बनाएंगे?, किस सप्लायर से मशीनें खरीदेंगे?, अपने प्रोडक्ट को कहाँ बेचेंगे?, किस कीमत पर खरीदेंगे?, किस कीमत पर बेचेंगे?, वर्कर्स की कितनी सैलरी जाएगी?, बिजली के बिल की क्या कॉस्टिंग आएगी? इत्यादि|”

आपको यह भी बताना है कि आप इसमें अपना कितना पैसा लगाएंगे?

इसके लिए किसी भी प्रकार के कॉलेटरल की कोई जरूरत नहीं है| 

Loan पर वार्षिक ब्याज दर लगभग 8% से शुरू हो जाती है|  यह लोन 7 साल तक के लिए मिल सकता है|

किसी भी bank की ब्रांच में जाकर इस loan से जुड़ी पूरी जानकारी ली जा सकते हैं|

mudra.org.in इसकी ऑफिशल वेबसाइट है, आप यहां से भी इसके बारे में ज्यादा जानकारी ले सकते हैं| 

नोट: NBFC या bank  लोन देने के लिए इन डाक्यूमेंट्स के अलावा और भी डाक्यूमेंट्स मांग सकते हैं| 

Mudra loan online apply करने के लिए लिंक को क्लिक करें – मुद्रा लोन लिंक

FAQs: बिजनेस लोन (Business loan)

बिजनेस के लिए लोन कैसे मिलेगा?

1- अपने बिजनेस प्लान अच्छी तरह बनाए
2- जिस बैंक से कर्ज लेना है उसे अपने बिजनेस प्लान के बारे में बताएं|
3- बिजनेस लोन लेने से पहले सभी जरूरी कागजात इकट्ठा कर लें|
4- यह तय करें कि आपको अपने बिजनेस के लिए कितना लोन चाहिए?
5- अपना सिबिल स्कोर चेक करें|

कुछ बिजनेस लोन स्कीम के बारे में बताएं

1- एमएसएमई लोन in 59 minutes (PSB Loan in 59 minutes)
2- PMMY: प्रधानमंत्री मुद्रा योजना
3- CGFMSE: क्रेडिट गारंटी फंड स्कीम फॉर माइक्रो एंड स्मॉल एंटरप्राइजेज
4- NSIC: नेशनल स्माल इंडस्ट्री कारपोरेशन
5- CLCSS: क्रेडिट लिंक कैपिटल सब्सिडी स्कीम

साथ ही यह भी अवश्य देखें:

एक्सपोर्ट बिज़नेस में ग्राहक कैसे ढूंढे?

Capital market क्या है?

फाइनेंशियल मार्केट क्या होता है?

Merchant banking क्या होती है?

KPO तथा BPO में क्या अंतर होता है?

दोस्तों, उम्मीद करता हूँ, आपको मेरे द्वारा दी गई जानकारी पसंद आई होगी|

अगली पोस्ट में फिर मिलेंगे, नमस्कार 

धन्यवाद

Previous articleशेयर मार्केट में कैसे निवेश करें? | How to invest in share market
Next articleबिज़नेस के लिए वेबसाईट कैसे बनाये? | How to create a website in Hindi
प्यारे दोस्तों, मैं नवीन कुमार एक बिज़नेस ट्रैनर हूँ| अपने इस ब्लॉग के माध्यम से मैं आपको - आयात-निर्यात व्यवसाय (Export-Import Business), व्यापार कानून (Business Laws), बिज़नेस कैसे शुरु करना है?(How to start a business), Business digital marketing, व्यापारिक सहायक उपकरण (Business accessories), Offline Marketing, Business strategy, के बारें में बताऊँगा|| साथ ही साथ मैं आपको Business Motivation भी दूंगा| मेरा सबसे पसंदीदा टॉपिक है- “ग्राहक को कैसे संतुष्ट करें?-How to convince a buyer?" मेरी तमन्ना है की कोई भी बेरोज़गार न रहे!! मेरे पास जो कुछ भी ज्ञान है वह सब मैं आपको बता दूंगा परंतु उसको ग्रहण करना केवल आपके हाथों में है| मेरी ईश्वर से प्रार्थना है की आप सब मित्र खूब तरक्की करें! धन्यवाद !!