शेयर बाजार की बुनियादी बातें | Basics of stock market in Hindi

58

Basics of stock market in Hindi: जो लोग शेयर मार्केट से अनभिज्ञ होते हैं उन्हें स्टॉक मार्केट का नाम सुनते के साथ ही डर लगने लगता है! हम अक्सर समाचारों के माध्यम से इस प्रकार की बातें सुनते हैं कि “आज स्टॉक मार्केट क्रैश होने से निवेशकों का बहुत पैसा स्वाहा हो गया|” या “आज शेयर मार्केट में निवेशकों की हो गई बल्ले बल्ले” 

ज्यादातर घर वाले हमेशा शेयर मार्केट से दूर रहने की ही सलाह देते हैं| स्कूल तथा कॉलेज की पढ़ाई में भी शेयर मार्केट के बारे में ज्यादा कुछ नहीं पढ़ाया जाता| 

स्टॉक मार्केट में बहुत ज्यादा मुनाफा होता है तो बहुत ज्यादा नुकसान भी होता है|  ऐसा आप अक्सर शेयर मार्केट के एडवर्टाइजमेंट में भी पढ़ या सुन लेते हैं| 

उदाहरण:  कुछ ऐसे शेयर भी हैं जिसमें आपने 30-40 साल पहले ₹10000 लगाए होते तो आज वह  लगभग 600 करोड़ रुपए होते हैं! 

कुछ शेयर ऐसे भी हैं जिसमें आपने 600 करोड़ रुपए लगाए होते तो आज वह ₹10000 के भी ना रहते! 

आपको अधिक से अधिक फायदा दिलाने  तथा कम से कम नुकसान होने के मकसद से मैं यह पोस्ट लिख रहा हूं| 

इस पोस्ट को लिखने से पहले एक डिस्क्लेमर देना बहुत ज्यादा जरूरी हो जाता है| 

Disclaimer: “शेयर मार्किट जोखिमों के अधीन है| इसमें आपको बहुत ज्यादा वित्तीय लाभ तथा वित्तीय नुकसान हो सकता है| आपके द्वारा की गई किसी भी प्रकार की ट्रेडिंग के आप स्वयं जिम्मेदार हैं: Basics of stock market in Hindi” 

तो चलिए!  दोस्तों, आज मैं आपको शेयर मार्केट या स्टॉक मार्केट आप कुछ भी कह सकते हैं, इसके बारे में जानकारी देता हूं|

इस पोस्ट को पढ़ने के बाद आपकी शेयर मार्केट (Stock market) के बारे में जानकारी बढ़ जाएगी|

इसके लिए मैं आपको कुछ चुनिंदा सवालों के जवाब देता हूं|

क्या स्टॉक मार्केट में जोखिम है? (Stock market Risks)

Share market Basics: stock market के Basics को समझने के लिए आपको कंपनी क्या होती है? इतना तो अवश्य ही जान लेना चाहिए|

जब आप किसी कंपनी के शेयर खरीदते हैं तो इसका मतलब यह है कि आप उस कंपनी में हिस्सेदारी खरीद रहे हैं| 

यानी कि आप उस कंपनी में सह स्वामी (Co-owner) बन रहे हैं| 

अब! यदि वह कंपनी बहुत अधिक तरक्की कर रही है तो निश्चित ही आप तरक्की कर रहे हैं| यदि वह कंपनी डूब गई तो समझ लो कि आपका पैसा भी डूब गया! 

यह ठीक उसी प्रकार है जैसे कि आप फिजिकल मार्केट में अपनी कोई रेडीमेड गारमेंट की कोई दुकान खोल कर  मुनाफा कमाने की अपेक्षा रखते हैं|

परंतु वह व्यवसाय या तो सफल हो जाता है या फिर असफल|

यदि सफल होता है तो निश्चित तौर पर आपको लाभ मिलता है| असफल होने पर आपको हानि मिलना निश्चित है| 

घरेलू व्यवसाय की तरह भी शेयर मार्केट में यह सोचकर पैसा लगाया जाता है कि  यदि लाभ हुआ तो ठीक है अन्यथा नुकसान झेलने के लिए मैं तैयार हूं| 

जिस प्रकार अपने व्यवसाय में पैसा लगाने पर आपको उस पैसे पर ब्याज नहीं मिलता ठीक उसी प्रकार शेयर मार्केट में भी पैसा लगाने पर आपको लगाई गई रकम पर ब्याज नहीं मिलता|

ब्याज इसलिए नहीं मिलता क्योंकि आपने किसी कंपनी में हिस्सेदारी ली है ना कि आपने उसको लोन दिया है| 

बहुत सारी ऐसी कंपनी है जो डूब गई है| ऐसे उदाहरण भी है जिनमें उम्मीद से ज्यादा मुनाफा भी मिला है|

जैसे कि:  कोरोना काल में फार्मास्यूटिकल कंपनियों की बल्ले-बल्ले हो गई है|  इनके शेयर्स ने उम्मीद से भी अधिक रिटर्न दिया है| 

ग्लैंड फार्मा का आईपीओ तो आपको याद ही होगा! इन कंपनियों सब्सक्रिप्शन उम्मीद से कहीं ज्यादा हुए थे| कई दिग्गज कंपनियों ने  कोरोनावायरस त्रासदी को मुनाफे में बदल लिया|  यही सोचकर आपको आईपीओ में इन्वेस्टमेंट की रणनीति बनानी चाहिए| 

कहने का मतलब यह है कि जहां पर रिस्क ज्यादा होता है वहां पर मुनाफा भी ज्यादा होता है| संक्षेप में: “रिस्क में ही सिक्स है!!” 

स्टॉक मार्केट से हम कितने मुनाफे की उम्मीद रख सकते हैं? 

Basics of stock market: अब बात करते हैं कि स्टॉक मार्केट से में कितना मुनाफा कमा सकते हैं| हालांकि ऊपर वाले सवाल से आप काफी कुछ अब तक जान चुके होंगे| 

इस सवाल का कभी भी कोई भी कोई निश्चित जवाब नहीं दे सकता| यह हमेशा कंपनियों को होने वाले फायदे तथा नुकसान पर ही आधारित होता है| 

कभी-कभी किसी फील्ड में सामान्य रूप से तरक्की होती है|  परंतु कभी-कभी परिस्थितियां इस तरक्की को असामान्य रूप से बढ़ा देती हैं|

चलिए! इसे भी एक एग्जांपल के माध्यम से समझा देता हूं| 

अभी हाल ही में आपने भारत में ऑक्सीजन के क्राइसिस के बारे में सुना होगा|  इसका इंपैक्ट यह हुआ कि रातों-रात ऑक्सीजन बनाने वाली कंपनियों के शेयरों में अप्रत्याशित वृद्धि हो गई| 

परंतु मैं इस सवाल का घुमावदार जवाब न देकर आपको एक आईडिया देता हूं|

इसके लिए आपको एक कंपनी स्टॉक में निवेश करने के बजाय 8 से 10 कंपनियों के स्टॉक में निवेश करना चाहिए| यदि मैं इसके एक एवरेज रिटर्न की बात करूं तो लगभग आपको 5 साल में 17 से 21% के बीच का रिटर्न मिल जाएगा| 

यानी कि यदि हम सामान्य शब्दों में समझे तो फिक्स्ड डिपॉजिट के मुकाबले इसमें आपको लगभग 3 गुना अधिक रिटर्न मिल जाता है| 

सुझाव:  एक शेयर की स्टडी कीजिए| इसके बाद जब यह शेयर अपने निचले स्तर के आसपास चल रहा हो तब इसमें निवेश कीजिए| 

कितने पैसों के द्वारा स्टॉक मार्केट में शुरुआत करना ठीक है?

यदि आप यहां तक पोस्ट पढ़ चुके हैं तो, अब! आपके मन में यह प्रश्न आना शुरू हो गया होगा कि कितने पैसों के द्वारा स्टॉक मार्केट में एंट्री करना ठीक रहेगा?

इसका सीधा सा जवाब यदि मैं दूं तो आपको ₹1000 महीना के निवेश से शुरुआत करनी चाहिए|

अगले साल 10 परसेंट वृद्धि के साथ निवेश करना है| इसके बाद आने वाले सालों में भी यही फार्मूला आप जारी रखें| 

इसमें आपको एवरेज 16% तक की वार्षिक रिटर्न मिल जाएगी| 

यदि यही सिलसिला आप 25 सालों तक कंटिन्यू करते हैं तो 25 सालों बाद आपको अपने द्वारा लगाई गई रकम में अप्रत्याशित वृद्धि दिखाई देगी| परंतु इसके लिए आप की वार्षिक रिटर्न भी स्थिर रहनी चाहिए| 

इसकी गणना आप SIP Calculator  के द्वारा भी कर सकते हैं| 

इसके लिए आपको गूगल पर टाइप करना है “sip calculator”  और बहुत सारी वेबसाइट आपके सामने हाजिर होंगी|

स्टॉक मार्केट में इन्वेस्ट कैसे करे? | How to invest in share market

Basics of stock market: शेयर कैसे खरीदते है? इसकी प्रक्रिया बहुत आसान है|  

इसके लिए आपके पास में तीन डाक्यूमेंट्स होने चाहिए| 

1. आधार कार्ड

2. पैन कार्ड  

3. बैंक अकाउंट 

अब यह सारी प्रक्रिया ऑनलाइन प्लेटफॉर्म पर आ चुकी है|  इसके लिए बहुत सारे ब्रोकर उपलब्ध है| आपको एक डीमैट अकाउंट खुलवाना है|

बहुत सारे डिमैट अकाउंट बिना किसी सालाना चार्ज के भी खुलते हैं| बहुत सारे डिस्काउंट ब्रोकर भी मिल जाते हैं| इनकी ब्रोकरेज लगभग शून्य होती है| इसका मतलब यह है कि आपकी ट्रांजैक्शन पर इन ब्रोकर को कुछ आमदनी भी होती है| 

स्टॉक मार्केट की कुछ लोगों की नजरों में छवि खराब क्यों है?

Basics of stock market: स्टॉक मार्केट से लोग डरते क्यों हैं? 

इसका जवाब यदि मैं दूं तो जैसे लोग एक्सपोर्ट बिजनेस से डरते हैं वैसे ही लोग स्टॉक मार्केट में ट्रेडिंग से भी डरते हैं| 

अक्सर नए बिजनेस मैन मुझसे जब भी एक्सपोर्ट बिजनेस के बारे में कुछ जानना चाहते हैं तो वह थोड़े डरे हुए होते हैं| 

क्योंकि हमारे देश का एक्सपोर्ट बिजनेस बहुत कम है इसलिए व्यापारियों को यह तक नहीं पता होता कि एक्सपोर्ट बिजनेस में ग्राहक कैसे मिलेगा? या वह एक्सपोर्ट बिजनेस कैसे शुरू करें? 

कारण सीधा सा है “अज्ञानता”

ऐसा ही शेयर मार्केट में भी होता है| किसी ने शेयर मार्केट में नुकसान कर दिया है तो  लोग नुकसान की वजह जानने के बजाय केवल अपने दिमाग में यह बिठा लेते हैं कि शेयर मार्केट में नुकसान होता है|

इसके साथ ही मैंने यह भी देखा है कि अक्सर लोगों ने अपने दिमाग में शेयर मार्केट के प्रति यह धारणा बना ली है कि बहुत ज्यादा चालाक तथा चतुर व्यक्ति ही शेयर मार्केट से पैसा कमा सकता है? 

इसके मुकाबले वह प्रॉपर्टी में इन्वेस्ट करना या गोल्ड में इन्वेस्ट करना बहुत ही सेफ तरीका समझते हैं| 

नए लोग जो शेयर मार्केट में आते हैं उनके दिमाग में एक ही बात रहती है| “आज मैं पैसा  लगाऊंगा और 1 महीने के अंदर में करोड़पति बन जाऊंगा|” 

लोग कभी भी कंपनी के बारे में जानने की कोशिश ही नहीं करते|  यहां तक कि उन्हें कंपनी के मुख्य दस्तावेजों के बारे में भी नहीं पता होता|

 चलिए!  मैं बता देता हूं| 

 कंपनी के तीन मुख्य दस्तावेज होते हैं|

1- मेमोरेंडम ऑफ एसोसिएशन

2- आर्टिकल ऑफ एसोसिएशन

3- प्रस्पेक्टस

जब आप इन तीनों डाक्यूमेंट्स के विषय में अच्छी तरह पढ़ लोगे तो आपको कंपनी के स्ट्रक्चर के विषय में अच्छी तरह समझ में आ जाएगा| 

क्या बिना किसी गैर वित्त या व्यापारिक ज्ञान के शेयर मार्केट में निवेश किया जा सकता है?

जी हां, कर सकता है|

इसके लिए एक साधारण इंसान की समझ बूझ होना जरूरी है| 

यह जरूरी नहीं है कि शेयर मार्केट में निवेश करने वाले व्यक्ति ने बिजनेस स्टडीज या व्यापारिक क्षेत्र में तहलका मचाया हो|

बहुत ही सिंपल सी ध्यान देने वाली बातें होती हैं| जब आप इस पोस्ट में दिए गए सारे लिंक वाली पोस्ट को अच्छी तरह पढ़ लेंगे तो आपको सारा फंडा क्लियर हो जाएगा| 

एक चीज आप अच्छी तरह समझ लीजिए कि “किसी भी काम को करने वाला प्रत्येक व्यक्ति उस काम के लिए शुरुआत में नया होता है|” 

स्टॉक मार्केट कैसे कार्य करता है?

जैसा कि आप जानते हैं प्राइवेट लिमिटेड कंपनी में शेयर के माध्यम से जो धन जुटाया होता है वह आम जनता नहीं होती|

इसी प्रकार पब्लिक लिमिटेड कंपनी में धन जुटाने के लिए आम पब्लिक को आमंत्रित किया जाता है| 

जब आम पब्लिक किसी पब्लिक लिमिटेड कंपनी में पैसा लगाती है तो वह बदले में उस कंपनी में उसको कुछ हिस्सेदारी दे देते हैं| 

इन शेयरों की खरीद बेच के लिए ही बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज की शुरुआत हुई थी| 

SEBI शेयर मार्केट की रेगुलेटर की तरह काम करती है| सेबी के आने से शेयर मार्केट में ट्रेडिंग करने का लोगों का विश्वास बढ़ा है| 

इन स्टॉक एक्सचेंज में करोड़ों लोग प्रतिदिन शेयर खरीदते तथा बेचते हैं| 

कोई बेचने वाला तैयार होता है तो कोई खरीदने वाला तैयार होता है| प्लेटफार्म एक ही है तो ग्राहक तथा विक्रेता भी आसानी से मिल जाते हैं| 

स्टॉक मार्केट के बारे में कहां से ज्ञान लिया जा सकता है? 

क्यों!! अभी जानकारी अधूरी रह गई क्या?

ठीक बात है!

निश्चित ही आपको सीखने के लिए पढ़ना तो पड़ेगा ही! 

कुछ बुक्स के मैं आपको नाम बता रहा हूं निश्चित ही यह बुक आपके जीवन को बदल कर रख देंगी|

1- Rich dad poor dad

2- Investonomy

3- Learn to earn

4- The education of a value investor

साथ ही यह भी अवश्य पढ़ें:

मनी मार्केट क्या होती है?

निफ्टी और सेंसेक्स क्या है?

फाइनेंशियल मार्केट क्या होता है?

पूंजी बाजार और मुद्रा बाजार के बीच अंतर

उम्मीद करता हूं! आपको यह पोस्ट “basics of stock market” पसंद आई होगी|

इसी प्रकार की अगली पोस्ट में मैं फिर मिलूंगा, तब तक के लिए, मैं नवीन कुमार आपसे इजाजत चाहता हूं, नमस्कार 

धन्यवाद 

Previous articleबॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज का भारत में इतिहास | History of stock exchange in India
Next articleनिफ्टी और सेंसेक्स क्या है? | What is Nifty and Sensex in Hindi
प्यारे दोस्तों, मैं नवीन कुमार एक बिज़नेस ट्रैनर हूँ| अपने इस ब्लॉग के माध्यम से मैं आपको - आयात-निर्यात व्यवसाय (Export-Import Business), व्यापार कानून (Business Laws), बिज़नेस कैसे शुरु करना है?(How to start a business), Business digital marketing, व्यापारिक सहायक उपकरण (Business accessories), Offline Marketing, Business strategy, के बारें में बताऊँगा|| साथ ही साथ मैं आपको Business Motivation भी दूंगा| मेरा सबसे पसंदीदा टॉपिक है- “ग्राहक को कैसे संतुष्ट करें?-How to convince a buyer?" मेरी तमन्ना है की कोई भी बेरोज़गार न रहे!! मेरे पास जो कुछ भी ज्ञान है वह सब मैं आपको बता दूंगा परंतु उसको ग्रहण करना केवल आपके हाथों में है| मेरी ईश्वर से प्रार्थना है की आप सब मित्र खूब तरक्की करें! धन्यवाद !!