ई-बिजनेस के 9 जबरदस्त फायदे | Advantages of e business

358

Advantages of e business: इस पोस्ट को पूरा पढ़ने के बाद आप ई बिजनेस करने के लिए प्रेरित हो जाओगे| इसमें आप जानोगे कि ई बिजनेस ना करके आप अपना कितना नुकसान कर रहे हैं| 

दोस्तों, शुरू करते हैं! आज का टॉपिक: ई बिजनेस के फायदे (Advantages of e business) 

ई बिजनेस के क्या फायदे होते हैं?

सबसे पहले आपको E-business के फायदों के बारे में जान लेना चाहिए|

ई वाणिज्य के बहुत सारे फायदे हैं|

मुझे उम्मीद है इन सब फायदों को पढ़ने के बाद, आप निश्चित तौर पर, जल्दी से जल्दी, अपने बिजनेस को ई बिजनेस में बदलना चाहेंगे|

आइए! इसे समझने की कोशिश करते हैं| 

गठन में आसानी (Ease of formation) / कम निवेश (Lower investment)

जैसा कि आप जानते हैं कि ई बिज़नेस, इलेक्ट्रॉनिक बिजनेस को कहते हैं|

यानी कि इसमें सारी प्रक्रिया इंटरनेट के माध्यम से होती है|

फिजिकल बिजनेस में आपके दिमाग में सबसे पहले कुछ यह प्रश्न आते हैं| इनके निर्णय पर पहुंचने के बाद ही आप कुछ कदम उठाते हैं| 

पहला  प्रश्न:  सबसे पहला प्रश्न आपके दिमाग में यह आता है कि जहां आप व्यवसाय शुरू करना चाहते हैं वह स्थान कहां होना चाहिए (Place and location):

दूसरा प्रश्न: बिजनेस करने के लिए धन (Finance)  की व्यवस्था कहां से होगी?

तीसरा प्रश्न:  आपके बिजनेस की आधारिक संरचना (infrastructure)  क्या होगी? e-business  में इन सब सवालों के बारे में नहीं सोचना पड़ता है,  क्योंकि यह सारे विषय इंटरनेट पर पूरे हो जाते हैं|

ई बिजनेस का फायदा (advantages of e business) यह है कि हमें इन सवालों के जवाब  नहीं ढूंढने पड़ते|

1- कम निवेश: इसमें आपको किसी भी फिजिकल कार्यप्रणाली में पैसा नहीं खर्च करना पड़ता| इसमें आपको सिर्फ इंटरनेट पर पैसा खर्च करना पड़ता है| आज के समय में इंटरनेट बहुत ही सस्ता हो गया है| 

पहले फिजिकल प्रक्रिया में जो भी सारा खर्चा होता था, ई बिजनेस के माध्यम से है सारा खर्चा घटकर थोड़ा सा रह जाता है| 

इसके द्वारा आप छोटी सी इन्वेस्टमेंट की सहायता से अपना व्यापार शुरू कर सकते हैं| इसे आप बहुत ही आसानी से चला सकते हैं| 

2- सब कुछ इंटरनेट पर होना: ई बिजनेस में सब कुछ इंटरनेट की मदद से कंप्यूटर/लैपटॉप/मोबाइल द्वारा होता है| 

जैसे कि:  आप इंटरनेट के द्वारा ही माल का आर्डर करते हैं, इंटरनेट के द्वारा ही आपको ग्राहक भी मिल जाते हैं,  अपने व्यापार का लेखा जोखा भी आप इंटरनेट की मदद से रख सकते हैं, ग्राहक आपको आसानी से इंटरनेट की सहायता से ढूंढ सकते हैं, यहां तक कि आप भी इसकी मदद से विदेशी ग्राहकों आसानी से खोज सकते हैं| 

जानने के लिए पढ़ें: एक्सपोर्ट बिज़नेस में ग्राहक कैसे ढूंढे?

यानी कि जब यह सारी प्रक्रियाएं इंटरनेट के माध्यम से हो जाते हैं तो फिजिकल एक्टिविटी बहुत कम हो जाती है|

इस कारण से हमारी काफी पूंजी बच जाती है| 

ई बिजनेस में आपको कोई शोरूम बनाने की जरूरत नहीं है, फैक्ट्री की डेकोरेशन में पैसा खर्च करने की जरूरत नहीं है|

इस सबके लिए आपको केवल एक वेबसाइट बनानी है| 

3- आज्ञा नहीं चाहिए: फिजिकल बिजनेस में आपको बहुत सारे परमीशंस की आवश्यकता होती है|  ई बिजनेस में आपको बहुत सारी अथॉरिटी की परमिशन नहीं चाहिए| इसके द्वारा आपको बहुत सारे झंझटों से मुक्ति मिल जाती है| 

4- समय की बचत: फिजिकल बिजनेस में आपको इधर-उधर जाकर बहुत सारी जानकारी लेनी होती है,  जबकि ई वाणिज्य में केवल आपको इंटरनेट की सहायता चाहिए होती है|  इसमें आपको इधर-उधर  जाकर खोजबीन करने से मुक्ति मिलती है|  यदि आप एक्सपोर्ट बिजनेस करने के लिए स्वयं विदेशों में जाएं तो आपका समय और पैसा बहुत लग जाएगा|

इस कारण से आपके समय की भी काफी बचत हो जाती है| 

5- छोटे-बड़े का फर्क खत्म:  ई बिजनेस का यह सबसे बड़ा फायदा है| मैं आपको अपने बारे में एक बात बता देता हूं| 

शायद आप लोग नहीं जानते कि मैं गद्दों (Mattress) का निर्यात व्यवसाय (Export business) भी करता हूं|

इसके लिए मैं इंटरनेट की सहायता से बहुत ही आसानी से ग्राहक ढूंढ लेता हूं| ज्यादा जानने के लिए यह पोस्ट पढ़ें: एक्सपोर्ट इंपोर्ट बिज़नेस कैसे शुरू करें?

6- वैश्विक पहुँच (Global reach): मेरी फैक्ट्री के मुकाबले में, भारत में बहुत बड़ी-बड़ी फैक्ट्रियां तथा कंपनियां हैं| ई वाणिज्य की मदद से छोटे बड़े का फर्क खत्म हो जाता है| 

इंटरनेट पर विदेशी ग्राहक जब आप को ढूंढता है तो उसे केवल प्रोडक्ट चाहिए होता है|

साथ ही, वह यह भी नहीं जानता कि भारत में आपकी कंपनी कितनी बड़ी है| 

एक्सपोर्ट में पेमेंट सिस्टम भी बहुत आसान होता है| इसमें आपका पैसा भी नहीं मरता| 

इसी वजह से ई-वाणिज्य में छोटे बड़े का फर्क लगभग खत्म ही हो गया है| आप मर्चेंट ट्रेडिंग भी कर सकते हैं|  आपको यदि अपने कस्टमर से बात करनी है तो, Zoom जैसी वेबसाइट आपको यह सुविधा देती है| 

आप के डाक्यूमेंट्स का सारा काम कस्टम हाउस एजेंट कर देता है| 

सामान्य भाषा में समझाऊं तो, मैं यह कहना चाहता हूं कि, e-business में हमारे मन से यह डर निकल जाता है कि मेरे प्रतियोगी का काम कितना बड़ा है! मुझसे ग्राहक क्यों लेगा? इत्यादि 

बहुत सारे लोग अमेजॉन तथा फ्लिपकार्ट  जैसे बिजनेस पोर्टल की मदद से बिना किसी वस्तु का उत्पादन किए,  लाखों रुपए महीना कमा रहे हैं|

आप भी जब इन वेबसाइट से अपने लिए कुछ मंगाते हैं तो क्या यह देखते हैं कि इसे बनाने वाला कौन है?, उसकी कितनी बड़ी कंपनी है? इत्यादि 

यह सब ई बिजनेस की वजह से ही संभव हो पाया है| 

7- गति (Speed): ई बिजनेस बहुत तेजी से गति पकड़ता है| इसमें बहुत तेजी से सफलता हाथ लगती है| ई बिजनेस में आप आसानी से एग्रीगेटर बिज़नेस मॉडल अपनाकर बहुत तेजी से तरक्की कर सकते हैं|

मैं अनगिनत ऐसे उदाहरण बता सकता हूं, जिन्होंने एग्रीगेटर बिजनेस मॉडल को अपनाकर कुछ ही समय में हजारों करोड़ रुपए का बिज़नेस खड़ा कर दिया है|

कुछ का मैं एग्जांपल दे रहा हूं आप भी जानते होगे:  जोमैटो ( खाना सप्लाई करने वाली कंपनी),  ओला ( कैब उपलब्ध करवाने वाली कंपनी), ओयो रूम ( होटल उपलब्ध करवाने वाली वेबसाइट) 

इन सब बिजनेस में आप एक चीज तो अच्छी तरह जानते होगे कि यह कंपनियां जिन चीजों की सप्लाई कर रही हैं, उनमें से किसी भी चीज को यह स्वयं नहीं बनाती| 

ग्राहक को केवल एक क्लिक करना है और उसका आर्डर प्लेस हो जाएगा| इस वजह से ही बिजनेस में बहुत गति आई है| 

पहले आपको कोई सॉफ्टवेयर खरीदने के लिए स्वयं दुकान पर जाना पड़ता था|

कंपैक्ट डिस्क खरीदनी पड़ती थी| फिर उसको इंस्टॉल करना पड़ता था, परंतु अब आपको केवल एक क्लिक करना है और उस सॉफ्टवेयर की सॉफ्ट कॉपी आपके पास चंद ही मिनट में पहुंच जाएगी| 

8- सुविधा (Convenience): इंटरनेट पर सारा बिजनेस शिफ्ट होने की वजह से आप, किसी भी समय, अपनी सुविधा के हिसाब से काम कर सकते हैं| 

ना आपको धूप/सर्दी/ गर्मी में अपने व्यवसाय पर जाने की चिंता होगी| आप अपनी सुविधा के हिसाब से अपने काम के घंटे तय कर सकते हैं| निश्चित तौर पर एक बात तो तय है कि आप जितना ज्यादा मेहनत करेंगे इतना ज्यादा  कमाएंगे|

ई व्यवसाय में एक दिन ऐसा आ जाता है कि आपका बिजनेस ऑटोमेटिक मोड पर चला जाता है|

यानि कि आप सो रहे होते हो और आपका सिस्टम आपके लिए पैसा हमारा होता है| 

आप आसानी से 24×7 की सुविधा अपने कस्टमर को दे सकते हैं| इसके लिए, जब आपके पास बजट बन जाए, तब आप एक कस्टमर केयर देने वाली एजेंसी को हायर कर सकते हैं| 

इसके लिए आप KPO मॉडल की मदद ले सकते हैं| KPO के बारे में अधिक जानने के लिए यह पोस्ट पढ़ें: KPO क्या होता है?

आपका कस्टमर आसानी से आपको ईमेल के द्वारा सूचना दे सकता है|  आप भी अपने कस्टमर को ईमेल के द्वारा जरूरी जानकारियां दे सकते हैं| 

एक्सपोर्ट बिजनेस में तो मैं हमेशा ही ईमेल के द्वारा अपने ग्राहक के टच में रहता हूं| 

ई-मेल के बारे में जानने के लिए आप यह पोस्ट पढ़ सकते हैं: ई-मेल कैसे लिखते हैं? ईमेल फॉर्मेट जानने के लिए देखें

यह सब काम आप आराम से अपने घर पर बैठकर कर सकते हैं|  इसके लिए आपको फिजिकली कहीं जाने की जरूरत नहीं है|

यदि आपको रात में काम करना पसंद है तो आप रात में कर सकते हैं,  दिन में काम करना पसंद है तो दिन में कर सकते हैं|  सभी मर्जी आपकी रहेगी| 

यही सारा  फायदा ग्राहक को भी रहता है|  वह अपने घर पर बैठे हुए कोई भी चीज ऑर्डर कर सकता है|  कोरोना वायरस की वजह से जहां पर सारे फिजिकल काम धंधे ठप पड़े हैं, वहीं पर ई बिजनेस में जो लोग शामिल हैं, उनकी कमाई डबल से भी ज्यादा हो गई है| 

9- कागज रहित समाज (Paperless society): इसकी वजह से प्रकृति को नुकसान पहुंचाने से बचाते हैं|  जितना ज्यादा कागज बनेगा उतनी ज्यादा पेड़ों की कटाई होगी|

जितनी ज्यादा पेड़ों की कटाई होगी उतना ज्यादा क्लाइमेट चेंज होगा| 

यानी कि प्रकृति के मामले में ही बिजनेस का माया सबसे बड़ा फायदा मानता हूं|  जितने भी डाक्यूमेंट्स होते हैं वह सब ऑनलाइन होते हैं|  उनकी सॉफ्ट कॉपी जनरेट होती है| 

सॉफ्ट कॉपी खोने का डर नहीं होता,  दीमक लगने का डर नहीं होता, चोरी होने का डर नहीं होता ( जब तक कि आपका कोई सिस्टम हैक ना कर ले)|

साथ ही साथ इसकी कीमत भी ना के बराबर होती है| ऐसा नहीं है कि आप इसकी हार्ड कॉपी नहीं निकाल सकते|  आप एक प्रिंटर ले लीजिए| इस प्रिंटर की मदद से आपको जिस डॉक्यूमेंट की जरूरत हो, आप उसकी हार्ड कॉपी निकाल सकते हैं| 

सोशल मीडिया का इस्तेमाल करके कैसे आप अपना बिजनेस बढ़ा सकते हैं?

आज के इस दौर में हर कोई सोशल मीडिया का फायदा अपने बिजनेस को उठाने तथा Online earning के लिए करना चाहता है| 

चलिए!  हम भी समझते हैं कि हम किस प्रकार अपने बिजनेस में सोशल मीडिया का फायदा उठा सकते हैं|

Instagram के जरिए ई- बिजनेस को कैसे बढ़ाएं? 

इंस्टाग्राम के द्वारा आप अपने बिजनेस से जुड़े फोटो और वीडियो को शेयर करके ज्यादा से ज्यादा लोगों तक अपने प्रोडक्ट को पहुंचा सकते हैं| 

इसके लिए यदि आप चाहें तो इनफ्लुएंसर की मदद भी ले सकते हैं|  इंस्टाग्राम पर कॉफी ऐसे मॉडल (Male/Female) हैं, जो इनफ्लुएंसर हैं| Influencer यानि प्रभावकारी व्यक्ति 

इनके लाखों में फॉलोअर्स होते हैं|  आप इनसे संपर्क करके अपने प्रोडक्ट का एक ऐड करवा सकते हैं|  उस ऐड की वीडियो को यह अपने इंस्टाग्राम अकाउंट पर शेयर करते हैं,  जिससे ज्यादा से ज्यादा लोगों को आपके प्रोडक्ट के बारे में जानकारी मिलती है|  इसके बदले में यह पैसा भी लेते हैं|  पर आपको यह बहुत ही सस्ता विज्ञापन पड़ता है|

WhatsApp के जरिए ई- बिजनेस को कैसे बढ़ाएं? 

आज के समय में लगभग हर स्मार्टफोन यूजर व्हाट्सएप का इस्तेमाल करता है, और आने वाले समय में जैसा कि आने वाले दिनों में इंटरनेट के यूजर की संख्या काफी बढ़ने वाली है| मेरी नजर में इसके दो कारण हैं|

1-  स्टार लिंक के द्वारा इस पर सेटेलाइट की मदद से इंटरनेट को देना|

2-  जिओ द्वारा बहुत ही सस्ता 4G फोन जिओ नेक्स्ट की घोषणा करना| 

किसी एक शहर या सीमित दायरे में बिजनेस को फैलाने के लिए व्हाट्सएप सबसे अच्छा माध्यम हो सकता है|  उदाहरण के लिए:  मान लीजिए, आप  किसी प्रोडक्ट को बनाकर बेचना चाहते हैं तो इसमें व्हाट्सएप  आपके लिए काफी मददगार हो सकता है| 

आप अपने प्रोडक्ट की फोटो अपने व्हाट्सएप प्रोफाइल पर लगा कर रखें| साथ ही कोई भी आर्डर देते समय एक परिचय ( विजिटिंग कार्ड) जरूर साथ में रखें जिसमें आपके प्रोडक्ट और दूसरी सर्विस यदि कोई है तो उसके बारे में लिखा हुआ हो|

इस विजिटिंग कार्ड पर बड़े बड़े अक्षरों में अपना व्हाट्सएप नंबर लिखा है और साथ में यह भी लिखें कि “ कोई भी आर्डर देने के लिए xxxxxxxxxx  पर व्हाट्सएप करें|”

 अपने कस्टमर का नंबर सेव करके,  अपने प्रोडक्ट की नई-नई फोटो और ऑफिस के बारे में उसे अपडेट करते रहें|

यह ध्यान रहे कि व्हाट्सएप पर कभी भी ग्राहकों का कोई ग्रुप ना बनाएं| इससे लोग परेशान हो सकते हैं और उनकी निजता का भी उल्लंघन हो सकता है| 

Youtube के जरिए ई- बिजनेस को कैसे बढ़ाएं? 

यूट्यूब गूगल का ही एक प्रोडक्ट है|  गूगल के बाद यह दूसरा सबसे बड़ा सर्च इंजन है|  इसका बिजनेस में आज के समय में बहुत ज्यादा महत्व है|  आप अपने प्रोडक्ट की वीडियो बनाई है उसको यूट्यूब पर अपलोड करिए| 

यदि आपके प्रोडक्ट में दम होगा तो लोग उसको अवश्य ही खरीदेंगे| मैंने स्वयं अपने प्रोडक्ट के विषय में यूट्यूब के महत्व को अच्छी तरह समझा है|

Facebook के जरिए ई- बिजनेस को कैसे बढ़ाएं? 

फेसबुक पर पेज बनाकर आप अपने बिजनेस को नई ऊंचाइयों पर आसानी से पहुंचा सकते हैं|  इसके लिए यह जरूरी है कि आप फेसबुक के कवर फोटो से लेकर प्रोडक्ट के फोटो तक,  सारी चीजें अप टू डेट रखें तथा आपकी यह सारी फोटो आकर्षक होने चाहिए|

 मंगल लीजिए, आप गद्दे (Mattress) बनाते हैं और अपने इस बिजनेस को फेसबुक के जरिए लोगों तक पहुंचाना चाहते हैं,  इसके लिए सबसे पहले गद्दे  की अच्छी सी फोटो आपको अपने फेसबुक के पेज पर लगानी चाहिए|

और अच्छी तरह अपने बिजनेस को प्रमोट करने के लिए,  आप इनकी छोटी-छोटी वीडियो ( लगभग 2 से 3 मिनट की वीडियो)  बनाकर उन्हें भी पोस्ट करें|

इसके साथ ही फोटो या वीडियो कम से कम शब्दों में एक जोरदार टेक्स्ट भी लिखें,  जिससे कि पढ़ने वाला उसकी तरफ आकर्षित हो|

 आप चाहें तो अपने फेसबुक के पेज  का Paid promotion भी कर सकते हैं| आपके फेसबुक पेज को बहुत जल्दी  बूस्ट मिलेगा|

 बूस्ट का अर्थ है कि फेसबुक आपकी इस पोस्ट को ज्यादा से ज्यादा लोगों तक पहुंचाएगा, यह अलग बात है कि इसके लिए वह पैसा लेगा|

पर यह पैसा आप को काफी फायदा पहुंचाएगा| 

Linkedin का ई- बिजनेस में फायदा कैसे उठाया? 

आज के समय में हर बिजनेसमैन लिंक इन पर अपना प्रोफाइल बनाए हुए हैं|  लोग इसके द्वारा आसानी से नौकरी भी ढूंढ लेते हैं|

आपको  अपना प्रोफाइल लिंक इन पर बनाना है|  आपके प्रोडक्ट की कैटेगरी के ग्रुप भी आपको ज्वाइन करने हैं| यदि आप अपने प्रोडक्ट का एक्सपोर्ट करना चाहते हैं तो यह ग्राहक ढूंढने का अच्छा माध्यम हो सकता है| कुछ नहीं हो सकता| 

यदि आप एक्सपोर्ट में ग्राहक ढूंढना चाहते हैं तो इसके लिए यह पोस्ट अवश्य पढ़ें: एक्सपोर्ट बिज़नेस में ग्राहक कैसे ढूंढे?

Pinterest का ई- बिजनेस में फायदा कैसे उठाएं? 

आज के समय में लोग अपनी अच्छी अच्छी फोटो पिंटरेस्ट पर शेयर करते हैं|  बहुत से लोगों की वेबसाइट पर पिंटरेस्ट के माध्यम ट्रैफिक भी आता है| 

इसी ट्रैफिक का फायदा उठा कर आप अपने बिजनेस में तरक्की कर सकते हैं| 

साथ ही यह भी पढ़ें:

E-Business क्या होता है?

बिज़नेस लोन कैसे मिलेगा

ई बिजनेस की सीमाएं तथा नुकसान क्या हैं?

Scope of e business ई व्यवसाय का दायरा कितना है?

आपने क्या सीखा

इस पोस्ट के माध्यम से आपने ई बिजनेस के फायदों (advantages of e business) के बारे में जाना| 

उम्मीद करता हूं, आपको यह पोस्ट पसंद आई होगी

अगली पोस्ट में फिर मिलेंगे तब तक के लिए, नमस्कार

धन्यवाद 

Previous articleई-बिज़नेस क्या होता है? | What is e business in Hindi?
Next articleई व्यवसाय का कार्यक्षेत्र (दायरा) कितना है? – Scope of e business in Hindi
प्यारे दोस्तों, मैं नवीन कुमार एक बिज़नेस ट्रैनर हूँ| अपने इस ब्लॉग के माध्यम से मैं आपको - आयात-निर्यात व्यवसाय (Export-Import Business), व्यापार कानून (Business Laws), बिज़नेस कैसे शुरु करना है?(How to start a business), Business digital marketing, व्यापारिक सहायक उपकरण (Business accessories), Offline Marketing, Business strategy, के बारें में बताऊँगा|| साथ ही साथ मैं आपको Business Motivation भी दूंगा| मेरा सबसे पसंदीदा टॉपिक है- “ग्राहक को कैसे संतुष्ट करें?-How to convince a buyer?" मेरी तमन्ना है की कोई भी बेरोज़गार न रहे!! मेरे पास जो कुछ भी ज्ञान है वह सब मैं आपको बता दूंगा परंतु उसको ग्रहण करना केवल आपके हाथों में है| मेरी ईश्वर से प्रार्थना है की आप सब मित्र खूब तरक्की करें! धन्यवाद !!